मौसी की बेटी को अकेले में चोद दिया

मेरी मौसी की शादी मम्मी की शादी के कुछ ही साल बाद हो गयी थी और उनकी एक बेटी ही थी जो की हमसे शायद ही कुछ महीने छोटी रही होगी। मेरी मौसी की लड़की का नाम ख़ुशी था जो हमारे घर पर आती जाती रहती थी। 

ख़ुशी बहुत ही चुलबुल और सुन्दर दिखने वाली लड़की थी जो की बिना सोचे कुछ भी बोल दिआ करती थी। ख़ुशी को देख कर में भी काफी खुश रहता था कुकी वह हमसे बहुत ही अच्छे से बर्ताव रखती थी। 

पर ख़ुशी कभी कभी मेरी कमजोरी भी बन जाती थी क्युकी जब भी वह छोटे या टाइट कपडे पेहेन कर आती थी उसके बूब्स साफ़ साफ़ दीखते थे जिससे मेरे लंड में तनाव आने लगता था और हवस जागने लगती थी। 

यह बात मुझे भी अच्छी नहीं लगती थी क्युकी वह रिश्ते  में मेरी बेहेन ही लगती थी और अपनी बेहेन को देख हवस को दिल में लान बहुत ही गलत बात थी। पर अब जैसे जैसे मै और मेरा लंड भी बड़ा हो रहा था मुझे हवस पर काबू करने में दिक्कत आने लगी थी। 

अब  कई बहार मै ख़ुशी को सोच कर अपने लंड को भी हिलाया करते था जिससे मुझे बहुत ही मजा आता था और मेरा माल भी उस दिन बाकि दिन के मुकाबले ज्यादा निकलता था। 

इलाके की सबसे सुन्दर लड़की की चुदाई करि 

मौसी की लड़की को पटाया 

अब एक दिन की बात है जब ख़ुशी हमारे घर पर ही आयी हुई थी और वह आज दिखने में बहुत ही ज्यादा सेक्सी लग रही थी जिससे मेरे लंड में तनाव आने लगा था। अब मेने जल्दी से  अपने कदम ऊपर बढ़ाये और ऊपर बाथरूम में जाने लगा। 

ऊपर जाके अब मेने अपने लंड को बाहर निकला और लंड को हिलाने लगा पर अब कुछ ही देर बाद ख़ुशी ने मुझे आवाज लगा दी और मुझे निचे जाना ही पड़ा जिससे मुझे बहुत गुस्सा आ गया। 

अब मेरी हवस और मेरा गुस्सा मुझ पर चढ़ गया था और मेने सोच लिआ की आज मै ख़ुशी को दबोच क ही रहुगा। मेने अब ख़ुशी से कहा की मुझे अपनने कमरे में कुछ काम है और ऊपर जाकर मेने ख़ुशी से कहा की वह भी ऊपर आये मुझे उसे कुछ दिखाना है। 

ऊपर बुलाकर मैंने खुशी से कहा की यह देखो मेरा कमरा आज कितना साफ और अच्छा दिख रहा है और यह सुनकर ख़ुशी मुझपर हसने लग गया। अब मेने अपनी चाल चली और मेने मजाक में ख़ुशी को थोड़ा सा मार दिआ। 

अब ख़ुशी ने भी मुझे वापस से मारा और मेने अब ख़ुशी को पीछे से पकड़ के  बिस्तर पर फेक दिआ। ख़ुशी अभी भी है रही थी और इसे एक मजाक ही समझ रही थी। 

पर मेने अब ख़ुशी के  हाथो को पकड़ा ओर उसके गालो पर थपड मारने लगा। वह मुझपर जोर लगाते हुए मुझे दूर कर रही थी  पर अब जैसे ही ख़ुशी ने मेरे हाथ पकडे मेरा शरीर उसके ऊपर गिर गया और उसके बूब्स मेरी छाती से चिपक गए। 

कुछ देर तक अब मै भी बिना बोले वही पर लेटा रहा और ख़ुशी ने भी मुझे कुछ नहीं कहा। अब मै कुछ देर बाद ऊपर हुआ और ख़ुशी भी मुझे देख हसने लग गयी और मै भी हसने लगा। 

पर अब मै गरम हो चूका था और मेने हसना बंद कर दिआ और खुद को थोड़ा निचे करते हुए ख़ुशी की आँखों में देखा। ख़ुशी भी चुपचाप मुझे देख रही थी और मेने अब  अपने होठ उसके होठो से मिला दिए और प्यार से चूसने लगा। 

बेहेन ने करवाई ब्लैकमेल करके चुदाई – 3 

मौसी की लड़की को दबा के चोदा 

अब कुछ ही देर बाद ख़ुशी भी मेरा साथ दे रही थी और ख़ुशी भी बहुत गरम हो गयी थी। मेने अब अपने हाथो से ख़ुशी के  बूब्स को भी दबाना शुरू  कर दिआ था। 

 मेने अब बिना देर करते हुए ख़ुशी के कपडे ऊपर करे और उसके बूब्स की निप्पल को चूसते हुए उसे काफी कामुक कर दिआ। अब ख़ुशी भी हवस से भर चुकी थी और उसे देख कर कोई भी बता सकता था की वह चुदाई के लिए तैयार है। 

मेने अब उसकी पजामी को निचे कर दिआ और अपने लंड को बाहर निकाल कर चुत के मुह्ह पर रखा। अब एक जोर के धक्के के साथ मेने अपना लंड ख़ुशी की चुत में घुसा दिआ और ख़ुशी के मुह्ह को दबा दिआ। 

 अब उसे पकड़ते हुए मेने उसकी चुदाई जोर जोर से करनी शुरू कर दी। ख़ुशी भी मजे के साथ अपनी चुत में लंड का मजा ले रही थी और अब काफी देर चुदाई करने के बाद मुझे मम्मी ने आवाज दी की ख़ुशी कहा है। 

अब मेने जल्दी से चुदाई रोक दी और मम्मी से कहा की वह मेरे साथ ही है और हमने जल्दी से अपने कपडे ठीक करके निचे चले गए। उस दिन मने अपनी मौसी की लड़की  की आधी ही चुदाई की पर आगे मेने उसे काफी बार अकेले रहने पर भी चोदा। 

Leave a Comment