मौसी की बेटी के बड़े बूब्स और कारनामे – 1

मेरी मोइस की एक लड़की थी जिसका नाम किरन था। वह दिखने में बहुत ही ज्यादा सुन्दर थी और जब भी वह बात करती थी मेरा ध्यान उसके बूब्स पर  से हटता ही नहीं था। 

किरन से मिलने के लिए कभी कभी मै  हफ्ते में 2 बार भी मौसी के घर पर चला जाया करता था किरण  की चुदाई करने के बारे में मै कई बार सोच चूका था। मौसी को भी शायद यह बात पता थी की मुझे किरन पसंद है। 

पर मौसी ने आजतक मुझे कुछ भी नहीं कहा था क्युकी मौसी ने मम्मी से बहुत सारा पैसा कर्जे पर ले रखा था इसलिए वह हमेशा हमसे दबके की रहते थे। किरन के बारे में आपको मै एक बात बताना तो भूल ही गया। 

किरन का एक लड़के से चक्कर चल चूका था जिसके पीछे घर में बहुत ही ज्यादा लड़ाई भी हुई थी और बात यहाँ तक आ गयी थी हम लोगो को पुलिस के पास जाना पड़ गया था। 

इसलिए अब किरन से सभी लोग चिढ़ते थे और अछि लड़की नहीं मानता था। पर किरन को मेरा उससे मीलना बहुत ही ज्यादा पसंद था क्युकी मौसी उसके दोस्तों को घर पर नहीं आने देती थी। 

पर मै मौसी के घर पर कभी भी आ जा सकता था जिससे किरन को भी अच्छा लगता था। अब बात कुछ यु हुई की मै आज किरन के पास गया हुआ  था और मौसी को किसी काम से बहार जाना था। 

मौसी की सेवा कर मिली जोरदार चुदाई

मौसी की लड़की से करि गंदी बात 

अब मौसी ने मुझे कहा की वह कुछ ही देर ले घर आ जायगे इसलिए मै आज शाम तक घर पर ही रुक जायु। अब यह मेरे पास बहुत ही अच्छा मौका था की मै किरन को चुम स्कू। 

मौसी के जाने के बाद अब मेने किरन से बात करना शुरू कर दिआ। अब मेने उससे पूछा की क्या उसने अपने बॉयफ्रेंड को कभी किस किआ था जिसके पीछे घर में इतनी लड़ाई हुई थी। 

अब उसने मुझे बताया की वह अपने बॉयफ्रेंड से बहुत ही ज्यादा प्यार करती थी पर परिवार की वजह से उसे उस लड़के को भी छोड़ना पड़ा था जिसकी वजह से वह काफी दिन परेशान भी रही थी। 

अब मेने उसे कहा की मेने तो कभी किसी लड़की को किस भी नहीं किआ है क्युकी कभी मेरी कोई दोस्त भी नहीं रही यही उसे सिवा। अब किरन ने मुझे देखते हुए कहा की मुझे उदास होने की जरुरत नहीं है। 

मेने अब उससे पूछा की क्या मै उसे किस करके देख ? वह अब बहुत ज्यादा चौक गयी और  उसने मुझे कहा की हम दोनों तो रिश्ते में भाई बेहेन है जिन्हे यह करना अच्छा नहीं रहेगा। 

भाभी  की बना दी रात रंगीन भैया ने

मौसी की बेटी को किस के लिए मनाया 

अब मेने उसे कहा की हम दोनों यह बात किसी से भी  कहेंगे जैसे आजतक मेने उसकी सिगरेट की बात किसी को भी नहीं बताई है। अब उसने थोड़ी देर इस बारे में सोचा और मुझे कहा की ठीक है और मै अपनी आंखे बंद कर लू। 

अब मेने अपनी आंखे बंद कर ली और वह मेरे एकदम ही करीब आ गयी। उनकी सांसे मुझे अपने चेहरे पर महसूस हो रही थी और अब उसने अपने होठ मेरे होठ से मिला दिए। 

मेने अब थोड़ी चालाकी दिखाई  और अपने हाथ से उसकी कमर को जोर से पकड़ लिआ। अब मेने अपने होठ से उसके ऊपर वाले होठ को जोर जोर से चूसना चालू कर दिआ। 

वह भी अब कुछ ही देर में काफी गरम हो गयी थी और अब उसने भी मेरे होठ को चूसना शुरू कर दिआ। वह मेरे होठो को  बारी  बारी से चूसने लग गयी जिससे मेरी हवस भी जाग गयी। 

 निचे अब मेरे लंड में भी जान आ चुकी थी और वह पूरी तरह से खड़ा हो गया था। मेने अब अपने एक हाथ से किरन के बूब्स  को दबाना शुरू कर दिआ जिससे उसकी वासना भी जागने लगी। 

अब उसके बूब्स को मेने थोड़ा टाइट दबाते हुए उसे काफी कामुक कर दिआ जिससे उसकी सांसे तेज हो गयी और अब मै उसे कमरे में ले गया जहा पर बिस्तर लगा हुआ था और उसे लिटाकर उसके ऊपर चढ़ गया। 

आगे पढ़िए अगले भाग में।  . . . . . . .  . . 

Leave a Comment