मौसी को गांड फाड़ चुदाई से दिआ चरमसुख का मजा

मै और मौसी शुरू से ही एक दूसरे से बहुत सा मजाक किआ करते थे इसलिए मौसी भी मुझसे उनकी काफी बाते बताया करती थी। मौसी का एक बॉयफ्रेंड भी था जिसकी वह अक्सर बाते किआ करती थी। 

मौसी पहले से ही सेक्सी थी और जब भी वह जींस पहनती थी उनकी गांड हवस में उठ जाती थी। यह देख मेरा लंड बहुत ही ज्यादा टाइट हो जाता था और इसलिए मौसी की चुदाई का ख्याल भी मेरे मन में अत रहता था। 

एक दिन मौसी कुछ उदास बैठी थी तो मेने उनसे पूछा की वह उदास क्यों है। शुरू से मौसी ने मुझे कुछ भी नहीं बताया और मौसी चुप रही। अब मेने अंदाजा लगाते हुए बोला की शायद उनके बॉयफ्रेंड से उनकी लड़ाई हुई होगी। 

पता नहीं कैसे पर मेरी यह बात एकदम सच निकली और मौसी मुझे देख हसने लग गयी। मौसी ने मुझे कहा की मै उम्र के हिसाब से बहुत ही जड़ा तेज हु। मेने मौसी को देखा और हसकर बोला की मै अब बच्चा नहीं हु। 

यहाँ से अब सब शुरू हो  चूका था और मौसी ने मुझे बताया की वह कल अपने बॉयफ्रेंड के साथ बाहर घूमने गयी थी और उनके बॉयफ्रेंड ने उन्हें एक भी चुम्बन नहीं दिआ। यह सुन मै भी चौक गया था पर मेने मौसी से कह दिए की वह मुझे चुम ले। 

मौसी को लगा की मै उनकी चिंता होने के कारण ऐसा बोल रहा हु पर मुझे तो उस समय भी मौसी की चुदाई के ख्याल ही आ रहे थे। मौसी ने मुझे बोला की मै छोटा हु इसलिए यह सब मुझे नहीं सोचना चाहिए। 

यह भी पढ़िए और मजा करिए: Desi Story

मौसी को चूमते चूमते ही कर दिआ गरम 

मेने मौसी से कहा की मै पहले भी यह सब कर चूका हु इसलिए मुझे इस बारे में उनसे भी ज्यादा पता है। मौसी मुझे देखके हसने लगी और मौसी ने  की ठीक है अगर ऐसा ही है तो मेरे पास आओ। 

अब मै मौसी के पास चला गया और जैसे ही मौसी मेरे थोड़ा करीब आयी मेने उनके होठो को चूमना शुरू कर दिआ और मौसी एकदम चौक गयी। मै बिना रुके उन्हें चूमा जा रहा था और मौसी मुझसे काफी हैरान थी। 

अब मौसी भी मेरा साथ देना शुरू हो गयी थी और मौसी कुछ ही देर बाद काफी गरम भी होने लग गयी थी। अब मेने मौसी के बूब्स को दबाते हुए उन्हें और भी ज्यादा गरम करना शुरू कर दिआ। 

मौसी अब आहे लेने लगी थी और मेने मौसी की टीशर्ट भी अब निकाल दी। मौसी के बूब्स की निपाल खड़ी हो गयी थी जीने चूसते हुए मुझे काफी मजा आ रहा था और मौसी की आहे मुझे भी गरम कर चुकी थी। 

अब मेने मौसी की पेंट में हाथ डालते हुए उनकी चुत को सहलाना शुरू कर दिआ। मौसी की चुत पहले से ही गीली हो गयी थी जिसके बाद मेने अपनी एक उंगली मौसी की चूतमे फिरानी शुरू कर दी। 

कैसे अपनी दोस्त को चुदाई के लिए किआ राजी और किआ सेक्स

मौसी की चुत के साथ मारी मौसी की गांड भी। 

मौसी की चूत पर मै अपने हाथ चलाये जा रहा था जिससे मौसी को बहुत मजा आ रहा था और मौसी की आहे तेज होती जा रही थी। अब मेने मौसी की पेंट भी खोल दी और मौसी को नंगा कर दिआ। 

मौसी की चुत पर एक भी बाल नहीं था इसलिए मौसी की चुत पर मेने अपनी जीभ से अब चटाई चालू कर दी। मौसी कामुकता से भर चुकी थी और आह्ह्ह्ह अह्ह्ह्हह करते हुए मेरा मुह्ह अपनी चुत में घुसआए जा रही थी। 

अब मेने अपना लंड अपने हाथ से मौसी की चुत पे रख दिआ और एक ही झटके में मेरा लंड मौसी की चुत में चला गया। अब मेने पुरे जोश के साथ मौसी की चूतमे अपना लंड देना शुरू कर दिआ था। 

मौसी भी नंगी अपनी चुदाई का मजा ले रही थी और अचानक मेरा लंड मौसी की चुत से निकल उनकी गांड पर चला गया। मेने वापस से लंड मौसी की चुत में डाला पर मौसी ने मुझे उनकी गांड मारने को बोला। 

मौसी की गांड बहुत ही ज्यादा टाइट थी पर मेने थोड़ा सा थूक अब मौसी की गांड पे रगड़ दिआ। मौसी को दर्द हो रहा था पर मेने काफी जोरो के बाद अपना आधा लंड मौसी की गांड में घुसा दिआ था। 

अब मेने मौसी की गांड जोर जोर से मारना शुरू कर दिआ। मौसी को दर्द के साथ मजा भी आ रहा था इसलिए मौसी आहे लेती जा रही थी। मौसी की गांड का छेद फट गया था पर मै अपना लंड तेजी से  अंदर बाहर करे जा रहा था। 

अब मेरे लंड से वीर्य निकलने वाला था इसलिए मेने अपने धक्के तेज कर दिए और कुछ देर की और चुदाई के बाद मेने अपना वीर्य मौसी की गांड में ही निकाल दिआ और मौसी को चरमसुख भी दिआ। 

Leave a Comment