मौसी को दिआ लंड का मजा और चोदी मौसी की चुत

मेरी मौसी दिखने में किसी अप्सरा से कम नहीं थी और मौसी की जवानी भी किसी को पागल करने के लिए काफी थी। मौसी को देख मेरा दिल भी तेज हो जाता था क्युकी वह  सेक्सी लगती थी। 

मौसी से मेरी बात चित भी ठीक थी और हम दोनों काफी मजे भी लिआ करते थे। मौसी की उम्र शादी की हो गयी थी। मौसी के लिए लड़का देखना भी शुरू कर दिआ गया था और अब मौसी भी मुझसे काम बाते करने लगी थी। 

अब कुछ दिनों बाद मै नानी के घर ऐसे ही घूमने के लिए चला गया पर मुझे असलियत में तो मौसी से मिलने का मन था। वह जाकर मेने मौसी से थोड़ी बहुत बात की पर मौसी दिखने में आज कुछ उदास सी लग रही थी। 

अब मेने मौसी से बात की तो मुझे पता चला की मौसी के लिए जो लड़का देखा गया था वह अब उनसे शादी नहीं करना चाहता है। अब सभी को मौसी की शादी की चिंता खाये जा रही थी क्युकी मौसी की उम्र भी काफी हो गयी थी। 

अब मौसी से मै दिन में कभी न कभी बाते करने लगा था और मौसी भी मुझसे काल पर अच्छे से बाते करने लगी थी। कुछ दिन बाद मै फिर मौसी से मिलने के लिए नानी  के घर जाने लगा। 

स्कूल की मेडम ने नंबर बढ़ाने के लिए कराई चुदाई

मौसी को एहसास कराया अपने लंड का

जब मै नानी के घर पंहुचा तो मुझे पता चला की अभी नानी घर पर नहीं है और मौसी घर पर अभी अकेली है। यह मौका मै छोड़ना नहीं चाहता था और मौसी की चुदाई का यह दिन मै हमेशा याद भी रखूंगा। 

अब मै अंदर गया और मौसी से मिला और बाते करने लगा और दिन का समय होने के कारण मेरी आँखों में नींद सी भर आयी। अब कुछ देर बाद मै वही सो सा गया और कुछ देर बाद ही मेरी आंख अचानक खुल गयी। 

अब मेने देखा की मौसी भी मेर बगल में सो रही थी और मौसी की गांड मेरी तरफ थी। मौसी की गांड देख मेरा लंड भी एकदम खड़ा हो गया और अब मेने अपना लंड मौसी की गांड में लगाते हुए उसे वैसे ही रख दिआ। 

अब मै भी सोने का नाटक करने लगा और अल्पना लंड मौसी की गांड पे लगाने लगा। मौसी भी कुछ ही देर बाद अपनी गांड पीछे करने लगी और मेरे लंड से मजे लेने लग गयी। मौसी की शायद अब नींद भी खुल गयी थी और मौसी को मजा आ रहा था। 

मौसी लगातार अपनी गांड मेरे लंड से लगाए जा रही थी पर अब मुझे समझ आ गया की मौसी को मज आने लगा था। मेने अब मौसी के बूब्स को पीछे से पकड़ा और उसे प्यार प्यार से सहलाना शुरू हो गया। 

मौसी बहुत ही गरम हो गयी थी और वह बिस्तर से अचानक उठ गयी। मेरी एकदम गांड ही फट गयी पर अब मौसी ने हाथ पकड़ा और मुझे लेके अंदर वाले कमरे में चली और बिस्तर पर लेट गयी। 

जीजा जी को दे दी अपनी चुत और चुदाई हुई जमके

मौसी की चुत में दिआ लंड और चुदाई करो जोरो से.

अब मौसी का मुह्ह मेरी तरह था और उनकी गरम सांसे मै महसूस कर सकता था। मौसी के होठ धीरे धीरे मेरे करीब आ रहे थे और अब मेने मौसी के होठो को अपने होठो से चूसना शुरू कर दिआ। 

मौसी और में काफी देर तक एक दूसरे के होठो को चूमते रहे और रसपान चालू रहा। मौसी मेरी जीभ भी साथ में चूसते हुए मजे ली रही थी और मै उनके बूब्स साथ साथ सहलाये जा रहा था। 

अब मेने मौसी के कपडे खोलने शुरू कर दिए और मौसी को नंगा करने लगा। कुछ ही देर में मौसी एकदम नंगी थी और अब मेने अपना एक हाथ उनकी छुटपर रख कर उसे सहलाना शुरू कर दिआ। 

मौसी बहुत ही कामुक सी हो गयी और अब मौसी चुदाई के लिए राजी थी। मेरा लंड भी बहुत टाइट हो रखा था इसलिए मौसी की चुत पर मेने सीधा अपना लंड फसा दिआ और उसे अन्दर डालना शुरू कर दिए। 

अब मौसी की चुत में मेरा लंड जाने लगा और मेने मौसी की चुत चुदाई चालू कर दी। मौसी जोर जोर से करहाते हुए मजे ली रही थी और में जोर जोर से मौसी की चुदाई कर रहा था। 

मेरा लंड पूरा टाइट हो गया था और मौसी भी मस्त चुदाई का मजा ले रही थी पर अब मेरे लंड में अकड़न आने लगी और मेने मौसी की चुदाई की रफ़्तार और भी ज्यादा तेज़ कर दी। 

मेरा वीर्य अब निकलने ही वाला था इसलिए मेने अपना लंड मौसी की चुत से निकाल दिआ और अपना सारा वीर्य जमीन पर ही निकाल दिआ जिससे मौसी के कोई भी बच्चा ना हो जाये। 

Leave a Comment