दूध वाले के साथ चुदाई का किस्सा – 2 

’ वो बोला- किसके साथ? मैं- मेरे साथ। ‘साब आप तो लड़के हो।’ ‘हां लड़कों के साथ कभी सेक्स किया है तुमने, बहुत मज़ा आता है।’ सेक्स की बात करते हुए मैंने महसूस किया कि उसका लंड टाइट हो गया था। 

मैंने मौका देखते ही उसके लंड को पकड़ लिया। वो सहम गया और बोला- साब कोई आ जाएगा। मैंने कहा- कोई नहीं आएगा। एक बार लड़के के साथ सेक्स करके देख, बड़ा मज़ा आएगा। वो बोला- मैं अपनी नहीं मरवाऊंगा। 

मैंने कहा- हां तू मेरी मार लेना। वो राजी हो गया। उसके राजी होते ही मैंने उसकी ट्रैक पैंट को नीचे खींच लिया। उसने ब्लैक कलर की जॉकी पहन रखी थी। साला काले रंग की फ्रेंचकट जॉकी में क्या मस्त लग रहा था। 

उसके लंड को सहलाते हुए मैंने उसके लंड को जॉकी के बाहर निकाल दिया। आह 7।5 इंच लम्बा और काफ़ी मोटा लंड था उसका। मैं बोला- अरे, तेरा लंड तो काफ़ी मोटा और लम्बा है। वो वासना भरी आवाज में बोला- हां साब। 

मैंने कहा- क्या सच में तेरे लंड को अभी कोई छेद नहीं मिला? वो बोला- नहीं साब, मेरा लंड अभी कुंवारा है। मैंने कहा- चल आज तेरे लंड का धागा टूट जाएगा। वो बोला- ये क्या होता है साब? मैंने लंड मुठियाते हुए कहा- जैसे चूत की सील टूटती है, वैसे ही लंड का धागा भी पहली बार में टूटता है। 

शायद उसे कुछ समझ नहीं आया, वो मेरी तरफ देखने लगा। मैंने कहा- अरे यार, बिल्कुल लोला हो क्या? चूत की सील के बारे में तो सुना है या वो भी नहीं सुना! वो कुछ नहीं बोला। 

क्लासमेट की चुदाई का प्रोग्राम – 1

चुत की सील का दिआ ज्ञान

मैंने उसे बताना शुरू किया कि जब किसी लड़की की चूत में पहली बार लंड जाता है, तो चूत के अन्दर एक झिल्ली होती है, जो लंड पेलने से फट जाती है और उसे ही सील टूटना कहते हैं। उसके बाद लड़की कुंवारी नहीं रहती है। 

उसकी समझ में बात आ गई और वो जरा खुश हो गया। वो कहने लगा- आपकी गांड की सील भी पैक है क्या? मैंने कहा- नहीं, मैं अब तक कई मर्दों के लंड अपनी गांड में ले चुका हूँ और इसी लिए मुझे आए दिन अपनी गांड में किसी न किसी का लंड लेना पड़ता है। 

वो बोला- तो आज ये मेहरबानी मेरे ऊपर क्यों? मैंने कहा- अबे यार क्या बताऊं, साला लॉकडाउन चल रहा है। कोई मिल ही नहीं रहा है, जिससे गांड मरवा सकूँ। वो बोला- हां साब, इस लॉकडाउन में मुझे भी बड़ी बेचैनी हो रही है। 

पहले तो कॉलेज में लड़कियों की चूचियां देख कर मुठ मार लेता था अगर अब वो भी मयस्सर नहीं हैं। मैंने कहा- ब्लू-फिल्म क्यों नहीं देख लेते हो? वो बोला- अभी वो ही देख रहा था। घर वाले रहते हैं तो कभी इस सबका मौका नहीं मिलता है। 

मैंने कहा- चलो, आज मैं तुम्हें मजा देता हूँ। अब मैं घुटनों के बल नीचे बैठ गया और तुरंत ही उसके लंड को अपने मुँह में ले लिया। अपना थूक लगाते हुए उसके लंड को पूरा चिपचिपा कर दिया। मुझे थूक के साथ लंड चूसने में बड़ा मज़ा आता है। 

दूध वाले लौंडे का ये पहला मौका था। उसने कभी किसी से अपना लंड नहीं चुसवाया था और न ही किसी की गांड मारी थी। मैं चाहता था कि मैं उसको ये दोनों काम में मास्टर कर दूँ और गांड मारने का उस्ताद बना दूँ। 

क्लासमेट की चुदाई का प्रोग्राम – 2

लंड चूसने के बाद शुरू हुई चुदाई

उसके लंड को मैं काफ़ी देर तक चूसता रहा। उसे लंड चुसवाने में बड़ा मज़ा आ रहा था। मैं उसके लंड को पूर गले तक जाने देता, फिर बाहर निकालता। मैंने देखा कि उसके लंड से प्रीकम निकलने लगा था। 

मैंने उससे पूछा कि गांड मारोगे? वो बोला- कभी किया नहीं है। मैं बोला- जा तेल की शीशी ले आ। वो अन्दर जाकर तेल ले आया। मैंने उसके लंड को तेल में नहला दिया और अच्छे से रगड़ कर लंड की मालिश करने लगा। 

फिर थोड़ा तेल मैंने अपनी गांड में भी लगाया। मैं उससे बोला- अब लेट जा। वो लेट गया। मैंने उसके लंड पर बैठना शुरू कर दिया। धीरे धीरे उसके लंड को मैंने अपनी चुदासी गांड में डाल लिया। 

उसका लंड जैसे ही अन्दर गया, मुझे बड़ी राहत मिली। मैं थोड़ी देर तक उसके लंड पर बैठा रहा। उसे भी गांड की गर्मी में मज़ा आ रहा था। फिर मैंने ऊपर नीचे होना शुरू किया। 

थोड़ी देर बाद मैंने उससे कहा- घोड़े की तरह मेरी गांड मारेगा? वो बोला- हां चलो मारता हूँ। मैंने घोड़ी की तरह पोजीशन ले ली। उसने पीछे से लंड सैट किया और धक्का देकर अपना मोटा लंड मेरी गांड में डाल दिया। 

वो काफ़ी जोश में आ गया और जोर जोर से मेरी गांड मारने लगा। थपाक थपाक सी आवाज आने लगी। मैं उसका पूरा लंड अपनी गांड में महसूस कर रहा था। वो इतना जोश में आ गया था कि वो मुझे छोड़ ही नहीं रहा था। अब मुझसे भी कंट्रोल नहीं हो रहा था और मुझे अपना पानी निकलवाना था। 

मैंने बोला- अब बस कर, वरना मेरा निकल जाएगा। वो रुक गया, मैं सीधा लेट गया और उसके लंड को अपने हाथ से हिलाने लगा। थोड़ी देर में उसका पानी फव्वारे की तरह मेरे लंड पर निकलने लगा। इतना सारा पानी मैंने अभी तक कभी किसी का नहीं देखा था। 

फिर मैंने भी मेरे लंड को हिलाना शुरू कर दिया। तुरंत ही मेरे लंड में से भी पानी निकल गया। इसके बाद हम दोनों उठकर बाथरूम में गए और सारा बदन साफ किया। 

मैंने उससे पूछा- मज़ा आया या नहीं? वो हंस कर बोला- हां बहुत मज़ा आया। मैं- तो अब जब भी तुम्हारे पास जगह हो, तो मुझे बोल देना, मैं आ जाऊंगा। इस तरह मैंने एक 20 साल के दूध वाले को भी अपनी जुगाड़ बना लिया।      

Leave a Comment