नर्स की चुदाई करके दिआ मजा – 2

उधर अपना नहाना आदि पूरा करके मैं बाहर निकल ही रहा था कि मुझे ऊपर से किसी लड़की की पायल छनकने की आवाज आई। मैं थोड़ा रुक गया, जिससे वो मेरी बॉडी देख पाए। 

फिर जैसे ही मैं सीढ़ियों की तरफ मुड़ा तो मैं सातवें आसामान पर था क्योंकि वो लड़की और कोई नहीं प्रिया थी और वो भी मुझे ऐसे देख कर मूर्तिवत हो गई थी। 

मैं उसके पास गया और उससे कहा- कहां खो गई थीं तुम … रात को भी नहीं आती हो और अब भी खो सी गई हो! उसने बताया कि वैक्सीन की पहली डोज़ के कारण मेरी तबियत खराब हो गई थी, तो एक हफ्ते से मैं बस आराम कर रही थी। पर अब मैं ठीक हूँ। 

आज से मैं रात को घूमना शुरू करूंगी। मैंने उससे कहा- ओके, मुझे तुम्हारा इंतजार रहेगा। ये बोल कर मैं चला गया और वो भी चली गई। मैंने रूम में जाकर चेंज किया और कपड़े पहनकर दोपहर का खाना खाकर रूम में आ गया। 

मैं बेड पर लेट गया और प्रिया के उभरे हुए चूचों को याद करके लंड सहलाया। मैंने सोचा कि चलो अच्छा हुआ कि मैं घर नहीं गया। मुझे हॉस्टल में ही चूत का जुगाड़ हो सकता है, तो मैं इस मौके को हाथ से क्यों जाने दूँ। 

मैं प्रिया के बारे में सोचते हुए सो गया। मुझे पता ही नहीं चला कि कब रात हो गई। अब मैं जल्दी से खाना खाकर बाहर निकल आया और कुछ दूर चलने पर मुझे प्रिया की मटकती हुई गांड दिख गई। 

दूध वाले के साथ चुदाई का किस्सा – 1 

मेरे लंड से खेलने लग गयी प्रिया

वो मेरी तरफ आती हुई दिखी। मैंने उसे हाई किया। फिर हम साथ साथ चलने लगे। कुछ देर हम दोनों यहां वहां की बातें कर रहे थे। तब ही मैंने प्रिया से एक चेयर की तरफ इशारा करके कहा- चलो वहां बैठते हैं। 

चूंकि रात में वहां अंधेरा रहता था और पेड़ के पीछे होने के कारण कोई देख भी नहीं सकता था। हम दोनों वहां कुछ देर बैठ कर बात कर रहे थे। तब मुझे लगा कि प्रिया धीरे धीरे मेरी ओर आने लगी हैं। 

मैं उसके पास को सरक गया और हम दोनों सट कर हाथों में हाथ डाल कर बात करते रहे। फिर थोड़ी देर ऐसी ही बात करते करते उसने बताया- कोरोना के कारण मैंने अपने ब्वॉयफ्रेंड से दो हफ़्तों से सेक्स नहीं किया है और अब मुझसे रहा जाता है। 

उसकी इतनी खुली बात सुनकर मेरा लंड खड़ा हो गया। मैंने मौका देखते ही उससे कहा- इतनी सी बात का क्या गम करना। इसका हल आज ही निकाल लेते हैं। वो हंस दी। अब लौंडिया खुद चुदने को मरी जा रही हो, तो मुझ जैसे लौंडे से कैसे रहा जाता। 

मैंने उससे उसका रूम नम्बर पूछा, तो उसने अपना रूम नम्बर बी-104 बताया। ये मेरे रूम के ऊपर वाला ही रूम था। मैंने उससे कहा कि रात को 2 बजे के बाद जब सब सो जाएं, तो तुम अपना दरवाजा खोल देना, मैं तुम्हारे रूम में आ जाऊंगा। उसने हां कर दी। 

उसके बाद हम दोनों थोड़ी देर वहां बैठे हुए एक दूसरे के शरीर से खेलते रहे और उसने मेरा लंड टटोल कर चैक किया और साइज़ महसूस करके खुश हो गई। मैंने कहा- साइज़ ठीक है? वो शर्म से लाल हो गई और उसने सर हिलाकर हां कर दी। 

दूध वाले के साथ चुदाई का किस्सा – 2 

मसल मसल कर चूसने लगा चुचे 

फिर हम दोनों अपने अपने रूम की चल दिए। मैं दो बजने का इंतज़ार करने लगा। जैसे ही रात के दो बजे, मैं अपने रूम से निकल कर सबसे पहले वॉर्डन के बैठने की जगह को देखा। एक वार्डन सो रहा था और दूसरा वार्डन वहां नहीं था। 

मैं मौका देखते ही जल्दी से ऊपर प्रिया के रूम की ओर भागा और उसके खुले हुए रूम में घुस गया। प्रिया जाग रही थी उसे भी मेरे आने का इन्तजार था। मैंने जल्दी से रूम लॉक कर दिया। हम दोनों ने एक दूसरे को प्यासी निगाहों से देखा। 

हमारे मन में आज की चुदाई के बारे के सोच सोच कर खुशी बढ़ रही थी। मेरे रूम का दरवाजा बंद करते ही प्रिया किसी जंगली बिल्ली की तरह मुझ पर चढ़ गई और मुझे जोर जोर से किस करने लगी। ऐसे में मैं कैसे पीछे रहता। 

मैंने भी उसे जोर जोर से किस करना शुरू कर दिया। कभी वो मेरे होंठ चूस रही थी … और कभी मैं उसकी जीभ। हमारे किस करने से ही रूम का माहौल गर्म हो चुका था। हमें किस करते हुए दस मिनट हो गए थे। 

न तो वो मुझे छोड़ रही थी और न मैं उसे। ऐसे ही किस करते हुए मैंने उसे उसके बेड पर पटक दिया और उसकी कुर्ती को ऊपर कर दिया। इस बीच हमारे होंठ बस कुछ ही सेकंड के लिए अलग हुए थे। 

मैं उसको किस करते हुए उसके चूचे उसकी ब्रा के ऊपर से ही मसल रहा था। वो आंह आंह कर रही थी। मैंने धीरे से उसकी ब्रा को उसके कंधे से नीचे कर दिया और ब्रा मम्मों से नीचे सरका दी। 

उसके दोनों निप्पलों को मैं अपने हाथों से मसलने लगा और मजा लेने लगा। निप्पलों को मसलने के कारण उसकी मादक आह निकलने लगी। मैंने अपने होंठ उसके होंठों से हटा लिया और उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया। 

मेरा एक हाथ उसके दूसरे चूचे पर था और एक हाथ की उंगलियां उसके मुँह में थीं जिन्हें वो बहुत अच्छी तरीके से चूस रही थी। मैंने उसके चूचे को चूस चूस कर लाल कर दिया और दूसरे चूचे को मसल कर मजा लिया। फिर जैसे ही मैंने उसके दूसरे चूचे को पकड़ा, उसने मेरा टी-शर्ट उतारनी चाही, पर मैंने उसे रोक दिया। 

Leave a Comment