पड़ोसन भाभी की चुदाई और सेक्स चैट की कहानी

दोस्तों आज की कहानी है मेरी और मेरी पड़ोसन भाभी की।  पहले में आपको अपने बारे में बता दू, मेरा नाम अंकित है और में 21 साल का हु। में शुरू से ही खेलो में बहुत अच्छा हु इसलिये मेरा शरीर भी किसी अभिनेता जैसा सुन्दर है। ये बात उन दिनों की है जब मेरी परीक्षा चल रही थी और मै हर रोज की तरह अपनी छत पर पढ़ने गया था। हमारे साथ वाले घर में ही एक भईया रहते थे जिनकी हाल ही में शादी हुई थी । और किस्मत से उस दिन भाभी कपडे सुखाने छत पर आई थी । अब में  आपको हमारी भाभी क बारे में बता दू, उनका रंग एकदम सफ़ेद और होठ एकदम गुलाबी थे मनो जैसे गुलाब उनके मुँह पर रखा हो । उनका शरीर भी किसी जवान लड़की जैसा था, उभरे हुए नितम्ब, पतली कमर और उठी हुई गांड। उनको पहली बार देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और में उन्हें बस देखता ही रह गया अगले दिन में समय देखकर  भाभी के कपडे सुखाने का इंतज़ार करने लगा  । पर इस बार भाभी थोड़ा लेट थी और थोड़ा उदास भी थी, मनो जैसे उन्हें किसी ने डाटा हो । आज में फिर उन्हें कल की तरह ही देख रहा था इतने में उन्होंने मुझे बुलाया और मुझसे मेरा नाम पूछा । मेने जल्दी जल्दी अपना खड़ा लंड दबाया और उनके पास जाके बाते करने लगा ।

भाभी से की सेक्स चैटिंग ।

ऐसे ही कुछ दिन की बातो के बाद हमने आने मोबाइल नंबर बदल लिए और चैटिंग पर बाते करने लगे । एक दिन भाभी ने किसी लड़की का फोटो व्हाट्सअप पर लगाया तो मेने उनसे पूछ लिए की वह कौन है ।  उन्होंने बोला की वो उनकी बेहेन है जो की यह कुछ दिन के लिए रहने आ रही है । मेने कहा क्या वह भी आपकी जैसी सुन्दर है ? भाभी ने शर्माते हुए बोलै की तुम भी बहुत मज़ाक़िआ हो । मेने बात और बड़ाई और कहा की भइया भी किस्मत वाले है जो उन्हें आप मिले । फिर भाभी ने एकदम से बोलै की ये सब मीठी बाते अपनी गर्लफ्रेंड से करना। मेने तुरंत जवाब दिआ की मेरी कोई गर्लफ्रैंड ही नहीं है । भाभी ने दिलासा देते हुए बोला की लाओ में बन जाती हु तुम्हारी गर्लफ्रेंड।  मेने मौका छोड़े बिना कहा की गर्लफ्रेंड बनने क बाद भी बहुत कुछ करना पड़ता है।  तो भाभी ने कहा बताओ क्या करना है में करकर दिखती हु।  मेने कहा तो चलिए फिर सेक्स चैटिंग करते है, भाभी को इसके बारे में शायद सही से पता नहीं था पर उन्होंने कुछ सोचने के बाद हां बोल दिआ।  फिर मेने सेक्सी बाते करना शुरू करी, शुरू में भाभी शरमाई पर कुछ समय बाद वो भी मेरे साथ मिलके नंगी बाते करने लगी की कैसे उनके पति उन्हें खुश नहीं कर पाते और उनकी हवस ख़तम नहीं हो रही।  Bhabhi Sex Story

धीरे धीरे बात बढ़ने लगी 

धीरे धीरे हमारी सेक्स चैटिंग बढ़ने लगी और हम दोनों एक दूसरे को नंगी फोटोस भी भेजने लगे।  अब मुझसे रुका नहीं जाता था और कई बार में अपना लंड हिला के शांत हुआ करता था।  अब में छत पर भी भाभी से सेक्स की बाते करने लगा।  भाभी मुझे रोज बताती की भइया का जल्दी झड़ जाता है और वह चूत को रगड़ कर ही सो जाती है।  एक दिन मेने हिम्मत कर भाभी से मजाक में कहा की लाओ भाभी आज भइया की जगह में तुम्हे खुश करता हु।  भाभी ने रिप्लाई नहीं किआ पर कुछ देर बाद भाभी का मेसेज आया की आज नहीं बस  2 दिन रुक जाओ फिर में तुम्हरी हु।  2 दिन बाद भैया किसी काम से २ रात क लिए बाहर गए और दिन में मेने भाभी को मेसेज किआ की भाभी आज भइया शयद चले गए न? भाभी ने जवाब में कहा की हां अब तो अकेली हु और उनके बिना नींद भी नहीं आती।  मेने कहा की आज रात में सो जायूँगा आप चिंता न करो।  रात हो गयी थी और मेने छत से ही भाभी के घर में दाखिला ले लिए।  भाभी तब नहाने  गयी थी और जब में पंहुचा तो वह डर गयी और बोली की अंकित की ये तुम हो? मेने कहा हां भाभी में बस आपसे मिलने आया था।  

भाभी का गीला बदन नंगा कर चोदा 

थोड़ी समय बाद भाभी नहाकर निकली और उन्होंने बस एक तौलिए लपेट रखा था जिसमे से उनके नितम्ब साफ़ साफ दिख रहे थे।  उनका यह रूप देख मेरा लंड फिर उफान मरने लगा, और पजामा होने के कारण मेरा खड़ा लंड भी साफ़ दिख रहा था।  भाभी ने मेरा खड़ा लंड देख हस्ते हुए बोला, अरे अंकित तुम्हरा तो खीरा बहुत बड़ा हो गया है।  मेने भी शर्म किये बिना जवाब दे दिआ की भाभी आपके बदन से ही यह सब हो रहा है।  इतने में में खड़ हुआ और भाभी को पीछे से पकड़ लिआ और उनके गले पर चुम्बन करने लगा. भाभी ने भी तौलिए छोर्ड मुझे अपनी बाहो में भर लिए। 

भाभी का बदन अभी भी पानी से भीगा हुआ था और गिला होने के कारण उनके नितम्ब और भी उभरे हुए लग रहे थे।  धीरे धीरे मेने भाभी के होठ चूमना शुरू किये जो की चीनी जैसे मीठे लग रहे थे. एक हाथ से में उनके नितम्ब दबाते हुए उन्हे ऊपर से निचे तक चुम रहा था।  इतने में भाभी निचे बैठी और मेरा पजामा निचे कर लंड चूसने लगी, मेरा लंड अब बहुत अकड़ चूका था और भाभी को भी यह शयद पता चल गया था।  भाभी उठी और मुझे लेटने के लिए कहा, तो में बिस्तर पर सीधा लेट गया और भाभी ने सीधा अपनी चुत मेरे मुँह पर रख  दी और चाटने को कहा।  मेने धीरे धीरे उनकी छूट को चाटना शुरू किआ और वो जोर जोर से सिसकिआ भरने लगी।  थोड़ी देर बाद वह उठी और मेरे लंड पकड़ कर हिलाए लगी, कुछ समय बाद मेरा लंड दुबारा खड़ा हो गया और भाभी उसपे बैठ कर मुझसे जोर जोर से चुदने लगी।  

भाभी की चुत बहुत टाइट थी इसलिए मुझे बहुत मजा आ रहा था।  में दोनों हाथो से उनके नितम्ब दबा रहा था और वो मेरे लंड पर ऊपर निचे होकर मुझसे  चुद रही थी।

 कुछ समय बाद भाभी को पकड़ कर मेने निचे दबाया और अपना पूरा लंड उनकी चुत में घुसा दिए।  इस बार भाभी जोर जोर से करहाने लगी, में जोर जोर से धक्के लगाने लगा जिससे वो आह आह ओह्ह ओह्ह की आवाजे निकालती रही। उस रात भाभी और मेने 4 बार सेक्स किआ जिसमे मेने भाभी की चूत को पूरी तरह ठंडा कर दिआ।  अब जब भी भाइआ किसी काम से कुछ दिनों क लिए बाहर जाते है में भाभी के साथ सेक्स के मजे लेता हु।  हम रोज़ यही आपके लिए नई और मज़ेदार कहानियां लाते रहेंगे आप बस हमारे पेज का नाम मत भूलना। रोज़ आप सबको यही एक नई हवस से भरी कहानी TheAdultStory.com मिलती रहेगी। 

Leave a Comment