पड़ोस की लड़की ने दी चुत बजाने को – 4 

मुस्कान का हाथ मेरे लंड से अलग हो गया और उसने जमीन पर पड़े कालीन को दोनों हाथों से ऐसे टाइट पकड़ लिया जैसे मुझे एक और धक्का लगाने को बोल रही हो। मैंने एक और धक्का लगाया, वो चिल्ला पड़ी क्योंकि लंड पूरा अन्दर घुस गया था। 

मैं उसकी आवाज सुन कर रुक गया और लंड भी बाहर निकाल लिया। उसकी चूत से खून निकल गया था और वो गर्दन उठा कर मुझे देख रही थी। उसकी चूत पर खून दिख रहा था और कंडोम पर भी खून लगा था। 

मुझे थोड़ा बुरा लगा। मैंने सॉरी बोला तो मुस्कान ने कहा- कोई बात नहीं, पहली बार में थोड़ा दर्द होता है। तुम मुझे उठा कर बाथरूम में ले चलो। मैंने मुस्कान को गोद में उठा लिया और बाथरूम में ले गया। 

वो खड़ी हो गई तो खून फर्श पर भी गिर गया। मैंने शॉवर चला दिया और हम दोनों के ऊपर पानी गिरने लगा। मुस्कान ने धीरे धीरे से अपनी चूत को साफ़ किया। कुछ देर नहाने के बाद मैंने मुस्कान को बोला- अब तो दर्द नहीं है। वो बोली- नहीं अब ठीक है। 

चलो फिर से करते हैं। उसकी स्माइल देख कर मैं समझ गया कि वो अब ठीक है। मैंने खड़े खड़े ही अपना लंड उसकी चूत में घुसाया और धक्के लगाने लगा। वो भी मेरी कमर पर हाथ बांध कर मजा लेने लगी। मैं मजे से उसको चोदता रहा। हम दोनों मजे से चुदाई करने लगे। 

चाची की हॉट पिक्स और मेरा दीवाना लंड

मुस्कान की चुदाई करने में आया मजा

कुछ देर बाद मेरा माल निकल गया। अब मैंने कंडोम को निकाल कर फैंक दिया। मैंने लंड को शॉवर में साफ कर लिया। तौलिया उठा कर मैंने खुद को पौंछा और मुस्कान के नंगे जिस्म को पौंछा। मुस्कान बोली- मुझे दूसरा टॉवल दो, मेरे बाल गीले हो गए हैं। 

मैंने कहा- बेडरूम में चलो, दूसरा टॉवल वहीं पर है। मैं और मुस्कान बेडरूम में आ गए। मैंने उसे तौलिया दिया। उसने अपने बाल और जिस्म को साफ किया और टॉवल से बालों को लपेट लिया। मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया था। 

उसे देख कर वो हंसी और बोली- एक बार और करें? मैंने उसको बेड पर गिरा दिया और उसके होंठों पर किस करते हुए अपना लंड चूत में घुसाने लगा। मुस्कान ने मेरे होंठों में से अपने होंठों निकाल लिए और बोली- कंडोम लगा कर करो। 

मैं उसके ऊपर से हटा और कंडोम देखने लगा। तब मुझे याद आया कंडोम तो बैठक में हैं। मैंने बाहर से कंडोम लिया और लंड पर सैट करके फिर से मुस्कान के ऊपर लेट गया। 

वो बोली- विकास, मैं रिस्क नहीं ले सकती … मैंने कहा- कोई बात नहीं मुझे कंडोम लगा कर भी अच्छा लग रहा है। उसने थैंक्स बोला और मैंने फिर से मुस्कान की चूत में लंड पेल दिया। अब चुदाई शुरू हो गई और मैं धक्के लगाने लगा। 

मौसी को गांड फाड़ चुदाई से दिआ चरमसुख का मजा

कंडोम के बिना चुत नहीं चोदुँगा

मुस्कान भी अपनी गांड उठा कर मजे से चुद रही थी। मैं जोश में उसकी चूत में अन्दर तक घुसा कर धक्के लगा रहा था। कुछ देर बाद मैं रुक गया और मैंने उसको डॉगी स्टाइल में होने को बोला। 

मुस्कान उल्टी होकर अपने हाथों पर अपना शरीर संभाल कर डॉगी की तरह घुटनों पर झुक गई। मैंने फिर से लंड उसकी चूत में फंसा दिया। चुदाई शुरू हुई तो वो फिर से आवाज करने लगी। 

इस बार मैं भी जोश में जोर जोर से पेल रहा था। कुछ पल बाद वो झड़ गई और बेड पर सीधे लेट गई। पर मैं इतनी जल्दी मुस्कान को छोड़ने वाला नहीं था। मैं फिर मिशनरी पोजिशन में उसको चोदने लगा। 

हम दोनों काफी देर तक चुदाई करते रहे और दो बार चुदाई के बाद हम रुक गए। फिर काफी देर तक नंगे ही बेड पर बातें करते रहे। मैं उसकी चूचियों से खेलता रहा। उसकी चूचियों का साइज़ 32 था। 

वो बाल सुखाने के बाद अपने घर चली गई। मैं टॉयलेट गया तो उधर मैंने मुस्कान की ब्रा देखी। मुझे ध्यान आया वो कपड़े पहनते हुए ब्रा भूल गई। मैंने उसे याद के लिए वो ब्रा अपने कमरे में छुपा कर रख ली। 

तभी मुस्कान का मैसेज आया कि टॉयलेट में मैंने तुम्हारे लिए एक गिफ्ट छोड़ा है। मैंने हंस कर कहा- हां उसे लंड पर लपेट कर तुम्हें याद कर रहा हूँ। वो बोली- साले यदि मेरा माल खराब किया तो मारूंगी। 

मैंने कहा- अरे यार ब्रा को धो दूंगा। वो बोली- चूतिया हो क्या … मैं लंड के माल की कह रही हूँ। वो अबसे मेरा माल है। मैं हंस दिया और हम दोनों प्यार भरी बातें करने लगे।

Leave a Comment