पड़ोसन लड़की ने सुबह सुबह कराई मेरे लंड से चुदाई

मै उस समय अपनी सेहत  का बहुत ही ज्यादा ख्याल रखता था और रोज सुबह मै अपनी छत पर जाकर योग भी किआ करता था। पर पिछले कुछ दिनों से मेने अपनी पड़ोसन को देखा की वह भी अपनी छत  कुछ तो करती है। 

आज भी मै अपना योग कर रहा था और मुझे उसके आने की आवाज आयी। मेने जैसे ही अब अपनी आंखे खोली वह मेरे सामने ही थी और मुझे देख रही थी। हम दोनों की आंखे मिली और अगले ही पल मुझ से आँख चुराने लगी। 

मेने उसे कुछ नहीं कहा और धीरे धीरे यह आंख मिचोली प्यार में बदल गयी। यह रासलीला हम दोनों के आलावा और किसी को भी नहीं पता थी क्युकी इतनी सुबह हमारे इलाके में कोई भी नहीं उठता था। 

एक छत से दूसरी छत हम सुबह सुबह काफी बाते करते पर अब मुझे इस प्यार को और भी ज्यादा गहरा  करना था और मेने अपनी पड़ोसन की चुदाई करने का फैसला कर लिआ। 

अगले दिन मेने अब उसे कहा की वह आज अपनी छत से मेरी तरफ आ जाये क्युकी यह दीवार बहुत ही जा छोटी सी है और अगर उसे कोई देख भी लेता है तो वह सबको बोल देगी की वह फूल लेने हमारे यहाँ आयी थी। 

उसने वैसा ही किआ और जैसे ही वह मेरी छत पर आयी मेने उसे अपनी बाहो में दबोच लिआ। वह शरमाने लगी और मेरी आँखों में नहीं देख रही थी पर मेने उसे कुछ देर ऐसे ही पकडे रखा और वह भी मुझे कुछ नहीं बोल रही थी। 

अब मै उसे एक कोने में ले गया और दीवार से लगा लिआ और उसके चेहरे को सीधा करके उसके होठ से अपने होठ मिलाये और हम दोनों अगले ही पल एक दूसरे के होठो को चूसने लग गए। 

नंगी भाई और उनकी  मोटी गांड की चुदाई 

पड़ोसन की अपने घर में करि चुदाई 

अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था और मेने उसे कहा की हमे छत पर कोई ना देख ले इसलिए हम दोनों मेरे निचे वाले कमरे में चलते है और वह मेरी बात मान भी गयी और हम दोनों निचे चले गए। 

मेने अब उसे बिस्तर पर लिटाया और उसके बूब्स को हाथ में लेते हुए उसके होठो को वापस से चूसने लगा। वह भी काफी मजे से मुझे चुम रही थी और साथ ही साथ मै उसके बूब्स भी दबा रहा था। 

अब मेने अपना हाथ उसके कपड़ो में डाला उसके बूब्स अंदर से दबाने लगा और इससे वह बहुत ही ज्यादा गरम भी हो गयी। हम दोनों बहुत ही ज्यादा  चुम रहे थे जिससे हम दोनों को मजा आ रहा था। 

पर अब मेने उसकी टीशर्ट ऊपर करते हुए उसे उतार दिआ और उसकी बूब्स की निप्पलों को बारी बारी से चूसा जो उसे काफी अच्छा लगा। अब मेने उसे चूमते हुए अपने होठ निचे किये और उसकी पजामी में हाथ डाल दिआ। 

शुरू में उसने मुझे मना किआ पर मेरी जिद्द के बाद उसने अपनी पजामी भी निकाल दी और उसकी पैंटी भी चुत के पानी से गीली हो रखी थी जिसे मेने अपने हाथो से निकाल दिआ। 

अब उसकी चिकनी चुत जिसपर एक भी बाल नहीं था  मेरे सामने थी और मेने अपनी जीभ से  चाटते हुए और भी गरम कर दिआ और वह अब चुत चुदाई के लिए तैयार हो चुकी थी। 

यहाँ से पढ़िए चुदाई की और कहानिया: Hindi Sex Story

पड़ोसन वाली लड़की को चिकनी चुत घर पर चोदी 

मेने अब अपना लंड पजामे से निकाला जो पहले से ही खड़ा हो चूका था। वह मेरा खड़ा लंड देख चौक गयी थी और मेने उसे कहा की इससे कुछ भी नहीं होगा। मेने अपना लंड उसकी चुत के छेद पर रखा दिआ। 

यह उसकी पहली चुदाई थी इसलिए मेने अपना लंड एक ही धक्के में पूरा अंदर नहीं डाला और उसे इससे दर्द होने लगा। मेने उसे अपनी बाहो में लिआ और  चुत में पूरा घुसा दिआ। 

अब जब वह शांत हो गयी मेने चुदाई शुरू कर दी और वह भी मेरा साथ देने लगी। हम दोनों प्रेम के साथ चुदाई का मजा ले रहे थे और  मेरा लंड भी चुत के अंदर बाहर अब तेजी से हो रहा था। 

वह चुदाई से बहुत ही ज्यादा  थी और आंखे बंद करके मेरे होठो को बस चूसे जा रही थी और निचे मेरे लंड को अपनी चूत में लेते हुए सेक्स का मजा पा रही थी। यह चुदाई बहुत ही अछि चल रही थी और मेरा लंड भी उसकी चुत में गहरायी तक चुदाई कर रहा था। 

पर मेने अब उसकी दोनों टंगे अपने कंधो पर ले ली और अपना लंड चुत में सीधा घुसा दिआ जिससे उसे दर्द होने लगा पर मेरी हवस में मेने उसे नहीं देखा और तेजी  मारनी शुरू कर दी। 

वह आअह्ह्ह अह्ह्ह्ह करती हुई मुझे धीरे होने को बोल रही थी पर मै सुकि चुत की चुदाई में पागल और भी ज्यादा जोर जोर से उसकी चुत में अपना लंड दे रहा था और ऐसी कुछ देर की चुदाई के बाद मेरे लंड से पानी आने लगा। 

मेने अगले ही पल उसकी चुत से लंड निकाला और सारा वीर्य बाहर निकाल दिआ जिससे वह गर्भवर्ती नहीं होने पाए। 

Leave a Comment