लंड की प्यासी मेरी बुलबुल पड़ोसन

वह मेरी पड़ोसन की कहानी है जो की हमेशा ही हवस से भरी रहती थी। यह बात भी  के बाद ही पता चली थी तो चलिए देखते है कैसे मेने उसकी चुदाई का जिम्मा लिए और उसकी हवस बुझाई। 

मेरी पड़ोसन उम्र में मुझ से ज्यादा बड़ी नहीं थी और दिखने में भी वह किसी हेरोइन को फेल कर सकती थी। उसके बूब्स बहुत ही ज्यादा मोटे और गोल गोल थे जिसे देख मेरा लंड खड़ा हो जाता था। 

वह हमेशा ही घर के अंदर रहती थी पर मुझे उसकी चुदाई करने का कोई तो प्लान बनाना ही था। अब मेने एक दी उसके घर से बाहर आते ही यह जान लिआ की वह रोज ही इस समय बाहर निकलती है। 

कुछ दिन बार वह मुझे देख क हसने लगी और एक लड़के के लिए यह सबसे बड़ी बात है। मुझे अब और कुछ भी नहीं चाहिए था। मेने उसे रस्ते में रोका और अपने दिल की बात कही और वह बहुत जल्दी मान भी गयी। 

अब हम दोनों रोज फोन पर बाते करते और एक रात उसने मुझे कहा की कल के दिन उसकी मम्मी घर से बाहर जाने वाली है उस रात वह एकदम अकेली रहेगी तो मै उससे मिलने के लिए आ सकता हु। 

अब जैसे ही रात हुई मै उसके घर पहुंच गया और जैसे ही मै अंदर गया उसने मुझे बाहो में भर लिआ और मेने भी उसे अपनी बाहो में लेते हुआ सुकून सा महसूस किआ। उसके मोटे बूब्स मेरे जिस्म पर लग रहे थे और मुझे काफी मजा भी आ रहा था। 

अब वह मुझे अंदर ले गयी और हम दनो साथ में टीवी देखने लगे। देखते ही देखते वह मेरे करीब आ गयी थी और करीब आते हुए उसने मेरे गाल पर चुम्बन कर दिआ। 

कार में करि लड़की की चुत चुदाई और निकाला पानी

पड़ोसन ने दिआ चुम्मा और मेरा लंड हो गया खड़ा 

जैसे ही उसने मेरे गाल पर चुम्बन किआ मेरे लंड में एक तनाव सा आ गया और अब मेने भी उसे प्यार से पकड़ते हुए उसके होठो पर अपने होठ मिला दिए और चूसने लगा।

वह भी मुझे प्यार किये जा रही थी और बारी बारी से मेरे ऊपर और निचे के होठो को चूस रही थी। निचे मेरा लंड अब तनाव में आ चूका था और मेने अपने एक हाथ से उसके मोटे बूब्स को दबाना शुरू कर दिआ। 

वह आहे भर्ती हुई गरम होती जा रही थी। 

मेने अब उसके हाथ ऊपर करते हुए उसके ऊपर के कपडे खोल दिए और बूब्स को आजाद कर दिआ। अब बारी बारी से मेने उसके दोनों बूब्स की निप्पलों को चूसा और दबाया जिससे वह बहुत अच्छा महसूस कर रही थी। 

उसका हाथ भी अब मेरे लंड पर आ गया था जिसे वह अपने हाथ से सेहला रही थी। मेने अब अपनी टीशर्ट भी निकाल दी और उसके गले पर चुम्बन करते हुए उसे प्यार से भर दिआ। 

कुछ ही समय बाद वह निचे हुई और उसके मेरे पजामे को निचे करते हुए लंड को बाहर निकाल लिआ। अब उसने मेरा लंड मुह्ह में लिआ और जोर  कर दिआ। मेरा लंड उसके थूक से पूरा गिला हो गया था। 

अब मेने भी बिना रुके उसकी सलवार का नाडा खोला और उसे नंगा कर दिआ। उसकी काली पैंटी उसकी चुत के पानी से भीग चुकी थी और मेने अपने हाथ से उसे उतार दिआ। 

चाची की हॉट पिक्स और मेरा दीवाना लंड

चुदाई करि पड़ोसन की और बुझाई हवस 

अब मेने अपना लंड हाथ में लिआ और उसकी दोनों टांगो को खोल दिआ। बिच में आते हुए मेने अपना लंड चुत के छेद पर रखा और एक जोर के धक्के से अपना पूरा लंड चुत में ही घुसा दिआ। 

वह जोर से आह  लेने लगी और मेने बिना रुके ही जोर जोर से चुत मरना शुरू कर दिआ। वह आह अहह करती हुई मुझे धीरे होने को बोल रही थी पर हवस में आते हुए मै अपना लंड और भी तेजी से चुत में पेल रहा था। 

उसके बूब्स को अपने मुह्ह से चूसते हुए निचे मै अपना लंड चुत में तेजी से आगे पीछे कर रहा था और वह भी आँखे बंद करती हुई अपनी चुत की चुदाई का मजा ले रही थी।

कुछ ही देर बाद मेने देखा की मेरे लंड से भी पानी निकलने ही वाला  है और मै चुदाई की रफ़्तार बढ़ता हुआ अपना लंड जोर जोर से चुत से घुसाने लगा और कुछ ही देर बाद मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा। 

मेने अपना लंड जल्दी से बाहर निकाल लिआ पर अब मेरी पड़ोसन ने मेरा लंड पकड़ा और वापस मुह्ह में लेते हुए चूसने लगी। वह मेरा लंड और उसका टोपा जोर जोर से अपनी जीभ से चाट रही थी जिससे मेरा वीर्य कुछ हि देर में फुवारे की तरह उसके मुह्ह में निकल गया। 

Leave a Comment