स्कूल की मेडम ने नंबर बढ़ाने के लिए कराई चुदाई

यह बात 12वी क्लास की है जब मै केवल 19 साल का ही था। मै दिखने में बाकी लड़को से अच्छा और जवान भी दीखते था जिससे सभी लड़कीअ मुझसे बाते बह किआ करती थी। पर पड़े में मेरा हाथ कुछ तंग था इसलिए मेडम मुझ पर हमेशा गुस्सा करती थी। 

अब स्कूल की परीक्षा आ गयी थी और मेने  भी नहीं पढ़ा था। टूशन के समय भी मै लड़कीओ के साथ था इसलिए मेरा फेल होना इस बार तय था। जैसे तैसे मेने अपने एग्जाम दे दिए पर रिजल्ट की अब मुझे बहुत चिंता थी। 

कुछ ही दिन बाद अब रिजल्ट आने वाला था और मुझे अपनी किस्मत पर पूरा भरोसा था जो की पड़ही के मामले में फूटी थी। अब मेने हिम्मत करते हुए अपनी मेडम से बात करने की सोची मेडम से बात करते हुए मेने उनसे अपने रिजल्ट के बारे में पूछा। 

मेडम ने बहुत ही निराश होते हुए मुझे बताया की मै इस बार फेल होने वाला हु क्युकी मेरे कम है। अब मेने मेडम के सामने गिड़गिड़ाना शुरू कर दिआ और मेडम से कहा की मुझे वह इस बार किसी भी तरह पास कर दे और इसके लिए मै उन्हें पैसे भी दे दूंगा। 

मेडम मुझ पर गुस्सा हो गयी पर मै अपनी एक ही बात बोल रहा था की मुझे कुछ भी करके इस बार पास होना है। अब मेडम कुछ देर चुप हुई और उन्होंने मुझे चुप होने को कहा। मेडम ने कहा की मुझे पास होने के लिए उनका एक काम करना होगा। 

मै झट से तैयार हो गया और मेडम से कह दिआ की मुझे वह जो भी काम बोलेंगी मै करने को तैयार हु। अब मेडम ने मुझे कहा की अगर मै वह काम करने से मन करता हु तो मुझे फेल होने से कोई भी नहीं बचा पायेगा। 

अब मेने मेडम से कहा की मुझे वह बस काम बता दे और मै वह कर दूंगा। मेडम ने मुझे कहा की काम  जानने के लिए मुझे उनके घर आज ही आना होगा और वह काम करना भी होगा। 

अब स्कूल के बाद मै जल्दी से अपने घर गया और मेडम के घर के लिए निकल गया। मेडम के घर जाते  उन्होंने मुझे अंदर बुलाया और बिठा दिआ। अब मेने मेडम से उस काम के बारे में पूछा जो मुझे पास कराने वाला था। 

और भी नयी नयी कहानिया: Hindi Sex Stories

मेडम ने रख दी चुदाई की शर्त जिसके लिए होना पड़ा मजबूर 

अब मेडम ने मुझे कुछ देर इन्तजार करने को बोला। कुछ देर बाद मेने मेडम से दुबारा कहा की वह मुझे काम जल्दी से बता जोकि मै वह काम कर अपने घर भी जल्दी से चला जायु। 

अब मेडम गुस्सा हो गयी और मुझे जाने को कहने लगी। मेने मेडम से माफ़ी मांगी और चुपचाप बैठ गया। अब मेडम ने मुझे कहा की कुछ देर बाद मुझे वह आवाज देंगी तब मुझे ऊपर आना है। 

मै समझते हुए हां कहा और कुछ देर बाद मेडम ने मुझे ऊपर आने को कहा। जल्दी से मै मेडम के पास जाने लगा और अब मेडम ने मुझे उनके कमरे में बुलाया। जैसे ही मेडम के कमरे में गया मेडम एक सुन्दर सी ड्रेस पहने हुए बिस्तर पर बैठी थी। 

मेडम ने मुझे अंदर आने को कहा और  अपने पास बिठाया। अब मेडम ने मुझे कहा की पास होने के लिए मुझे जो काम करना है वो है मेडम को खुश करना। मेडम ने बोला की आज उनके पति घर नहीं है इसलिए उन्हें मेरा प्यार चाहिए शांत होने के लिए। 

अब मेने मेडम को मना कर दिआ और जल्दी से उनसे दूर होकर खड़ा हो गया। मेडम गुस्से में आ गयी और मुझे  कहने लगी की पास होने के लिए मुझे वही करना होगा जैसे वह मुझसे कहती है। 

मेरे पास इसके सिवा कोई रास्ता भी नहीं बचा था और अब मै  मेडम के पास आकर ही बैठ गया। मेडम ने अब मुझे एक दवाई दी और उसे खाने को कहा। दवाई खाते ही मुझे कुछ अजीब सा  महसूस हुआ और इतने में मेडम ने मुझे किस करना शुरू कर दिआ। 

अब मेडम मुझे साथ लेते हुए बिस्तर पर लेट गयी और मुझे चूमती रही। धीरे धीरे अब मेडम ने अपने कपडे खोलने शुरू कर दिए और ऊपर से पूरी नंगी हो गयी। मेडम अपने बूब्स मेरे मुह्ह लगाते हुए उनके निप्पल मुझसे चुसवा रही थी और गरम होने लगी थी। 

मुझ में भी अब जोश सा गया था और मेरा लंड भी टाइट हो गया। मेडम ने अब मेरी टीशर्ट ऊपर करते हुए खोल दी और  चूमने लगी। मेडम अब किसी भुकी शेरनी की तरह मेरे बदन से प्यार कर रही थी और चूमते हुए वह मेरे लंड पर पहुंच गयी। 

मेरा लंड पहले से ही खड़ा हो रखा था और मेडम ने मुझे मेरी पेंट से निकालते हुए अपने मुह्ह में ले लिआ। अब मेडम मेरे लंड को जोर जोर से अपने होठो से चूस रही थी और अपनी जीभ उस पर फिराए जा रही थी। 

यह भी पढ़िए: चुत का प्यासा भाई बेहेन की करि जोरदार चुदाई

मेडम ने चुदाई कराई नए नए अंदाज में 

कुछ देर बाद ही मेरा लंड किसी सरिये की तरह खड़ा हो गया और तन गया। अब मेडम ने अपनी पैंटी भी निकाल दी और मेरे लंड को अपनी चुत में लेते हुए उस पर चढ़ गयी। अब मेडम ने आहे लेना शुरू कर दी। 

मेडम की चुत ने मेरा लंड अपने अंदर पूरी तरह से ले लिआ था और मेडम अपने चुचे दबाती हुई मेरे लंड पर सवारी कर रही थी। मेडम जोर जोर से मेरे लंड पर कूदे  जा रही थी जिससे उनकी चुत में मेरा लंड और गहरा जा रहा था। 

ऐसे ही मेडम ने मेरे लंड की चुदाई का काम काफी देर तक चालू रखा और अब मेडम और मै दोनों पसीने में भीग गए थे। आज मेरा लंड कुछ ज्यादा ही मजबूत हो गया था जो झड़ने का नाम नहीं ले रहा था। 

अब मेडम बिस्तर पर आगे मुह्ह करके झुक गयी और मुझे पीछे से चुदाई करने के लिए कहने लगी। मेने भी जोश में आते हुए मेडम की चुत में पीछे से अपना लंड डाला और जोर जोर से धक्के मरने लगा। मेरा लंड कुछ ज्यादा ही बड़ा हो रखा था जिससे मै मेडम की चुत फाड़ रहा था। 

अब मेडम की चुत से सफ़ेद पानी सा आ रहा था और तेज तेज आहे ले रही थी। मेडम की चुदाई का काम चल ही रहा था की मेडम ने मुझे रोक दिआ और अब वह मेरी बाहो में आ गयी और निचे लंड अपनी चुत में ले लिआ। 

मेडम पूरी तरह से मुझ पर चढ़ गयी और मेरी बाहो में कूदने लगी। मेडम जोर जोर से मेरा पूरा लंड अपनी चुत में पेले जा रही और मेरे गले को चुम भी रही थी। अब मेरे लंड में भी खिचाव आने लगा था पर मेडम मेरे लंड से चुदाई का पूरा मजा ले रही थी। 

तभी मुझे बहुत तेज से लंड में तनाव आने लगा और मेने मेडम की चुदाई बहुत ही तेजी से करनी शुरू कर दी। मेडम तेज तेज चिल्लाते हुए मेरी बाहो में आहे लेने लगी और मेने अपना लंड झटके से मेडम की चुत से निकाल लिआ और एक तेज वीर्य की पिचकारी जमीन पर निकाल दी। 

Leave a Comment