मामी ने देखा मेरा लंड बाथरूम में और कराई चुत मालिश

आज हम सब गांव जाने वाले थे थे और गांव से मेरा मतलब है नानी के घर। मेरे मामा की शादी अभी अभी ही हुई थी इसलिए मम्मी हमारी मामी से मिलने के लिए गांव आयी थी। 

अब हम गांव में पहुंच गए और जैसे ही मेने मामी को देखा मेरे तो होश ही उड़ गए। मम्मी बहुत ही सुन्दर और मधुर आवाज वाली औरत थी जिनसे कोई भी गुस्सा नहीं हो सकता था। 

मम्मी को पहली बार में ही देख मै बहुत चौक गया था और मामा की किस्मत पर मुझे बहुत ज्यादा गुस्सा आ रहा था। हमे आये हुए अभी ज्यादा देर नहीं हुई थी और मामा ने हम सभी से कहा की हम लोग अब थोड़ी देर आराम कर ले। 

हम लोग गर्मी  में आये थे इसलिए हम सभी के कपडे पसीने से भीग गए थे और मामी ने हम सभी से कहा की हम सब बारी बारी करके नहाना शुरू कर दे और मै भी इस बात से सहमत था क्युकी मुझे बहुत गर्मी लग रही थी।  

अब मेने सीधा अपने कपडे निकाले और नहाने के लिए जाने लगा। अब जैसे ही अब मै बाथरूम में गया मुझे याद आया की मेने अपना तौलिया मम्मी से लिआ ही नहीं है। मेने बाथरूम के अंदर से ही मम्मी को आवाज लगाई की वो मुझे तौलिया दे दे। 

अब मम्मी भी अंदर जा चुकी थी और यह आवाज मम्मी तक नहीं पहुंची पर मम्मी अभी बाहर ही थी और उन्होंने मेरी आवज सुनते हुए मेरी बात मम्मी तक पहुचायी और मम्मी ने उन्हें तौलिया दे दिया। 

पर मै भूल गया था की मै नहाते हुए अपना कछा उतार देता था और इससे पहले की मै खुद को संभालता मम्मी   तौलिया बाहर आ गयी और मेने मामी से  तौलिया लेने के लिए जैसे ही दरवाजा खोला उन्हें मेरा लंड दिख गया। 

मौसी की गोरी चुत को चाटा और की चुदाई

मामी हो गयी मेरे लंड की दीवानी 

मम्मी ने मेरा लंड देख लिआ था और यह बात मुझे भी पता था पर हम दोनों ही एक दूसरे से अब नजर चुरा कर इधर उधर के कामो में लगे थे। अब रात हो चली थी और मै सोने के लिए ऊपर चला गया। 

मामा की जॉब भी रात की ही थी इसलिए वह भी 10 बजते ही अपने काम के लिए निकल गए और मामी अपने कमर में जाकर सो गयी। हम सब सो गए थे पर गर्मी होने की वजह से मुझे रात के 2 बजे बहुत तेज प्यार लगी। 

मेने पास में ही रखे जग में देखा तो उसमे पानी नहीं था इसलिए मुझे अब पानी लेने के लिए निचे जाना पड़ा। निचे जाके मेने अपना जग पानी से भर और जैसे ही मै ऊपर आने लगा मुझे किसी की आवाज आयी। 

अब मेने देखा की मामी अपने कमरे के बाहर कड़ी मुझे बुला रही थी। मै उनके पास गया और मामी ने मुझे अंदर आने को कहा। मामी ने मुझे कहा की आज जो भी वह बस एक भूल थी और मेने भी उनकी बातो में हां मिला दी। 

पर अब मामी ने कहा की वह चाहकर भी वह सब नहीं भूल पा रही है तो मुझे उनकी थोड़ी सी मदद करनी होगी। यह कहते ही मामी आयी और अपने होठो को मुझ से चिपका दिआ। 

मोटी मेडम की मोटी चुत में लंड डाला और करि चुदाई

मामी ने मरवाई अपनी जवान चुत और मेने चोदा गोरा जिस्म 

अब मम्मी मेरे होठो को चूसे जा रही थी और इससे पहले में कुछ समझ पता मै भी हवस में आ गया था और मामी के होठो का रसपान कर रहा था। हम दोनोंबिस्तर पर लेट गए और मामी ने बिना देर करते हुए मेरे कपडे निकलना शुरू कर दिए। 

अब मै नंगा हो चूका था और मम्मी ने अपने हाथ से मेरे लंड को पकड़ा और कहा की इतना बड़ा खिलौना तो मेरे मामा का भी नहीं है और यह मौका वह अपने हाथ से नहीं जाने देने वाली। 

यह कहकर मामी उठी और मेरे लंड  को जोर जोर से चूसने लगी। मेरे लंड में अलग ही जान आगयी थी और अब मामी ने अपनी साडी ऊपर करते हुए मेरे लंड पर अपनी चुत रखी और लंड को अंदर ले लिआ। 

मामी के मुह्ह से थोड़ी सी आह निकली पर अब वह मेरे लंड को अपनी चुत में ले चुकी थी और मेरे लंड पर कूदते हुए अपनी चुत मरवा रही थी। मामी की आँखों में अलग ही सुकून था और मै भी अब निचे से अपने लंड के झटके मामी को देने लगा। 

मम्मी अह्ह्ह अहह करते हुए अपनी चुत में मेरा लंड ले  रही थी और मै भी अपने लंड को मामी की चुत की गहराई में देते हुए चुदाई कर रहा था। मेरे लंड में अब जलन होनी भी शुरू हो गयी थी और मेरे लंड से पानी आने वाला था। 

मामी से मेने कहा की उन्हें अब मेरे लंड से उतरना होगा पर मामी बिना सुने बस मेरे लंड पर कूद रही थी और चुदाई करवा रही थी। अब एक झटके में ही मेरे से पानी निकला और मामी की चूत मे चला गया और मामी रुक गयी। 

मम्मी ने मुझ से कहा की कोई बात नहीं उन्हें मेरे जैसा ही एक बच्चा भी चाहिए था जो मेरे जैसा जोशीला हो और औरतो की हवस ख़तम कर सके तो वह इस चुदाई को अब कभी भी नहीं भूलेगी। 

Leave a Comment