रजाई में साली की कर दी जोरदार चुदाई 

हेलो दोस्तों मेरा नाम है राहुल और आज मै आप सभी को मेरी साली की चुदाई का किस्सा सुनाने जा रहा हु। यह किस्सा बहुत ही दिलचस्प है जिसको पढ़कर आप भी पूरे गरम हो जायेंगे। 

बात कुछ सर्दिओ के मौसम की है और आप सभी तो जानते ही होंगे की सर्दिओ में मर्दो की हवस कितनी बढ़ जाती है। हर सर्दिओ के मौसम में मेरी साली हमारे घर घूमने आया करती थी पर इस साल वह किसी वजह से नहीं आयी। 

मुझे इस बात का थोड़ा दुःख भी था पर मेरे पास मेरी बीवी भी थी जिकसी मेने कई दिनों तक सर्दी में चुदाई करि। रोज मै अपनी बीवी को इतना गर्म कर देता की वह मुझसे चुदे बिना रह ही नहीं पाती थी। मै रोज अपनी बीवी से प्यार करने लगा था और हम दोनों बहुत हम दोनों ही इससे बहुत खुश थे। 

कुछ दिन बाद अचानक मेरी साली का फोन मेरी बीवी को आया और उसने कहा की वह कल हमारे घर पहुंच जाएँगी। यह सुनकर मै थोड़ा सा चौक गया पर मुझे इसे ख़ुशी ज्यादा थी। अगले दिन मेरी साली मेरे घर आ गयी और मेरी बीवी ने उसे उसके कमरे में सोने की जगह दिखा दी। 

हर साल मेरी साली कुछ 10 दिन रूककर जाती थी जिसमे वह अपनी दीदी से अच्छे से मिल सके। हमारे घर में एक ही टीवी थी जो की हमारे कमरे में ही लगा हुआ था। शाम का समय था में अपनी रजाई गरम करके आराम से टीवी देख रहा था। 

कुछ देर बाद ही मेरी साली निचे आयी और मेरी बीवी से कुछ देर बात करने के बाद रजाई में आकर बैठ गयी। आप सभी तो जानते ही होंगे की जीजा और साली का रिश्ता मजाक से ही जुड़ा होता है इसलिए मेरी साली ने अपने ठन्डे पैर मेरे पेरो पर लगाना शुरू कर दिए। 

जीजा साली की और भी रंगीन कहानिया यहाँ पढ़िए : Antarvasna Story

साली से पकड़ लिआ मेरा लंड और हिलाया 

मेरी साली बार अपने ठन्डे पैर मेरे पेरो पर लगा कर है रही थी। अब मै उससे बहुत ही परेशान हो गया था पर मै उसे कुछ कह भी नहीं सकता था। मेरी साली की इन हरकतों से मेरे लंड में तनाव आने लगा था पर रजाई में होने के कारन यह बात सिर्फ मुझे पता थी। 

साली बार बार मुझे अपने पेरो से परेशान कर रही थी की तभी उसका पैर मेरे लंड पर आकर लग गया। उसने कुछ देर बाद अपना पैर वापस से मजाक करते हुए मेरे लंड पर से गुजरा और वह समझ गयी की मेरा लंड खड़ा हुआ है। 

मेरी बीवी रसोई में खाना बना रही थी और अब मेर साली भी रजाई में आराम से लेट गयी। मेरी साली के पैर भी गरम हो गए थे इसलिए वह मुझे परेशान भी नहीं कर रही थी। अचानक मुझे मेरे लंड पर कुछ महसूस हुआ और वह मेरी साली का हाथ था। 

मै एकदम से चौक गया और मेने अपनी साली की तरफ देखा। मेरी साली मुझे  हसी और मेरे लंड और अपने हाथो में दबोच लिआ। मेरी साली मेरे लंड को प्यार से सेहला रही थी हर मर्द की तरह यह मुझे भी अच्छा लग रहा था। 

मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था और मेने भी अपना हाथ  अपनी साली के पजामे के ऊपर से ही उसकी चूत पर फिरना शुरु कर दिआ। मेरी साली ने मेरा लंड जोर से पकड़ लिआ और रगड़ने लगी। 

इतने में मेरी बीवी  मेरी साली को आवाज लगाई  खाना लगाने में उसकी मदद करने को कहा। हम सबने खाना खाया और सोने के लिए टीवी और लाइट बंद  कर दी। मेरी साली भी अपने कमरे में जा चुकी थी। 

रात के अब 2 बज रहे थे पर मुझे नींद ही नहीं आ रही थी। मेरे दिमाग में बस मेरी साली की चुदाई के ख्याल ही चल रहे थे। पहले मेने अपनी बीवी को देखा जो की अच्छे से सो चुकी थी और अपने कदम अपनी साली के कमरे की तरफ बढ़ाये। 

भाभी को गर्मी के मौसम में चोदा – पसीना, वासना और चुदाई

साली की चूत को चोदा और साली को दिआ चरमसुख 

जैसे ही मै ऊपर मेने पंहुचा मेने देखा की मेरी साली भी अभी तक नहीं सोई थी और अपना फोन चला  रही थी। मेने अपनी साली से पूछा की वह शाम को मुझसे वैसा मजाक क्यों कर रही थी। साली ने मुझसे कहा की उसे उन्ही मजाकों से मजा मिलता है। 

मेने अपनी साली से पूछा की वह अबतक सोई क्यों नहीं। साली ने कहा की उसकी रजाई बहुत ठंडी है और गरम नहीं हो रही है। साली ने  मुझसे कहा की में उसकी रजाई गरम करने में उसकी मदद कर दू। 

अपनी साली का यह इशारा में समझ गया झट से रजाई में लेट गया। साथ में ही अब मेरी साली भी लेट गयी और जैसे ही उसने मेरी तरफ देखा मेने उसके होठ चूमने शुरू कर दिए। साली ने भी अपना हाथ मेरे लंड तक पहुंचाया और उसे हिलना शुरू कर दिआ। 

धीरे धीरे हम दोनों ने एक दूसरे के कपडे उतार दिए थे और एक दूसरे से लिपटते हुए प्यार कर रहे थे। कभी मै अपनी साली से होठ चूसता तो कभी उसकी निप्पल। मेरी साली भी पूरी तरह गरम हो गयी थी और अब रजाई में मुह्ह डालते हुए मेरी साली ने मेरा लंड अपने मुह्ह में ले लिआ।  

मेरी साली किसी लॉलीपॉप की तरह मेरे लंड की चुसाई कर रही थी और मेरा लंड बुरी तरह उसके थूक से सन गया था। अब मेरी साली उठी और मेरे लंड पर अपनी चूत रखते  हुए बैठ गयी। 

लंड गिला होने की वजह से एक ही बार में मेरी साली की चूत में फिसलता हुआ घुस गया। अब मेरी साली ने ऊपर निचे उछलते हुए मेरे लंड से चुदाई करवाना शुरू कर दिआ। मेरी साली के बूब्स हवस में उछाल खा रहे थे जिन्हे मेने अपने दोनों हाथो से दबाते हुए संभाल लिआ। 

 मेर और मेरी साली बुरी तरह चुदाई का आनंद ले रहे थे और अब मेने अपनी साली को अपने लंड से उतरा और उसकी टंगे खोलकर वापस अपने लंड उसकी चूत में घुसा दिआ। इस बार मेरा पूरा लंड साली की चूत मे प्रवेश कर गया था। 

मेरी साली थोड़ा सा करहाई पर जैसे ही मेने अपने लंड से धक्के लगाना शुरू किये उसे भी मजा आने लगा। मेरी साली आह अह्ह्ह्ह करती हुई मुझे अपनी बाहो में लेती हुई चुदाई करवा रही थी। 

मै भी पूरी तेजी से अपना लंड उसकी चूत में अंदर बाहर कर रहा था और तभी मुझे महसूस हो गया की मेरा वीर्य निकलने वाला है। मेने तभी अपना लंड साली की चूत  से निकला और उसके मुह्ह में देते हुए मुह्ह की ही चुदाई करने लगा। 

कुछ ही देर में मेर सारा वीर्य मेरी साली के मुह्ह में आ गया। और ऐसे ही मेने अपनी साली की चूत को हफ्ते में कई बार चोदा और सर्दिओ का मौसम चरमसुख लेते हुए बिताया। 

Leave a Comment