कैसे इलाके की नंबर-1 रंडी को फ्री में चोदा – 1

सभी पाठको को मेरा नमस्कार, यह किसा हमारे इलाके की सबसे सुन्दर और महंगी रंडी के बारे में है। तो चलिए शुरू करते है की कैसे मेने सबसे अछि रांड को फ्री में चोदा। 

यह बात आज से 1 साल पहले की है जब मै अपने घर से काफी दूर जॉब करने के लिए जाया करता था।  सुबह मै घर से जल्दी निकलते हुए रात को एकांत में आया करता था। मेरा सभी दोस्तों से बात करना और मिलना भी अब बंद हो गया था। और जॉब के कारण में बहुत  थक जाया करता था जिससे मै मोबाइल  भी कम ही इस्तेमाल किआ करता था। एक दिन सुबह की बात है जब में जॉब के लिए निकल रहा था की तभी मुझे बस अड्डे पर एक खूबसूरत लड़की दिखी। उस लड़की को मैंने पहले कभी नहीं देखा था और उसे देखते ही मेरा दिल भी उस पर फ़िदा हो गया। 

मैने उस लड़की के पास जाकर उसे बात करने की कोशिश करी की इतने में मेरी बस आ गयी और मै बस में बैठकर निकल गया। पूरे दिन मै उस लड़की के बारे में ही सोचता रहा और रात होते समय वह लड़की मुझे दुबारा दिखी। अगले दिन मै बस अड्डे कुछ समय पहले पंहुचा और उस लड़की के पास जाकर खड़ा हो गया। अब मैने उस लड़की से बात करने के लिए थोड़ा सा नाटक करते हुए उसका नाम पूछा। बिना कुछ सके उस लड़की ने मुझे जवाब देते हुए कहा रुकसाना। मै थोड़ा चौक गया था की एक लड़की इतनी आसानी से अनजान लड़के से कैसे बात कर सकती है। पर मन से सारे ख्याल निकालते हुए मैने रुकसाना से बाते करना जारी रखा और मेरी बस आते ही उसे अलविदा कर दिआ। 

यह भी पढ़िए : बुआ ने बुझाई अपनी हवस की आग और चुदवाई चूत

रुकसाना का नाम और उसके बड़े दाम 

अब मैने घर आकर रुकसाना के बारे में थोड़ा और जानने का प्रयास किआ। मैने अपने ही पड़ोस में रहने वाले एक लड़के को फ़ोन किआ और उससे रुकसाना के बारे में पूछा।  उसने मुझसे कहा की उसने यह नाम पहली बार सुना है और हमारे इलाके में भी इस नाम की कोई लड़की नहीं है। अब अगले दिन बस अड्डे जाकर मैने रुकसाना उसका  नंबर माँगा और उसने बिना कुछ पूछे मुझे अपना नंबर दे दिआ। अब मैने वह नंबर फेसबुक और कई जगहों पर दाल कर देखा पर रुकसाना की कोई जानकारी मुझे नहीं मिली। 

बहुत दिनों बाद मुझे उसी बस अड्डे पर अपना एक दोस्त दिखा जिससे मैने मिलकर काफी बाते की। अब मैंने रुकसाना की तरफ उंगली करते हुए अपने दोस्त से उसके बारे में पूछा। और जो मेरे दोस्त ने मुझसे कहा उससे मेरा दिमाग और दिल दोनों दिल गए। मेरे दोस्त ने मुझे बताया की उसका नाम प्रिया है और वह हमारे ही इलाके की एक बहुत ही महंगी रंडी है। उस दिन मै पूरे टाइम बस प्रिया के बारे में ही सोचता रहा और अपने प्यार को कोसता रहा। 

अब हर दिन मुझे प्रिया बस अड्डे पर मिलती पर मै उसे नजरअंदाज करता हुआ अपनी बस में बैठकर जॉब पे चला जाया करता था। कुछ दिनों तक ऐसे ही चलने के बाद प्रिया एक दिन मेरे पास आयी और मुझसे मेरे इस बर्ताव का कारण पूछा। मैने गुस्सा होते हुए कहा की तुमने मुझसे आप नाम गलत बताया और अब मै तुम्हारे बारे में सब जनता हु। प्रिया ने मुझे बिना डरते हुए कहा : क्या हुआ अगर में यह काला काम करती हु तो। कई लोग मुझे इस काम के लाखो रूपये तक देते है। 

रंडी प्रिया का प्यार और मेरा इंतकाम 

अब ऐसे ही बहुत दिन बीत गए और मैने उस बस अड्डे से बस पकड़ना भी बंद कर दी। अब एक दिन प्रिया मुझे रस्ते में मिली और गुस्सा होते हुए बोली की तुम अब मुझसे मिलते क्यों नहीं हो। मैने जवाब ना देते हुए अपने कदम आगे बढ़ाये। और  इतने में प्रिया ने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे कहा की वह मुझसे प्यार करने लगी है।  यह मेरे लिए बहुत ही बुरी बात थी की एक रांड को मुझसे प्यार हो गया था जिसका जिसम कई मर्दो ने छुआ है। 

अब मैंने हाथ छुड़ाते हुए प्रिय को खुद से दूर किआ और अपने काम के लिए ऑफिस चला गया। ऐसे ही अब प्रिया मुझे दिन में कई कई बार फ़ोन करने लगी और मुझसे मिलने की बाते करने लगी। मै रोज प्रिया को खुद से दूर करने की कोशिश कर रहा था और वह मेरे नजदीक आये जा रही थी। अब कुछ दिन बाद मैने प्रिया का फ़ोन उठाया ओस उससे सही से बात करी। मैने प्रिया को बहुत समझाया की यह जिद्द बेकार है और इस प्यार को वह भूल जाये। पर प्रिया मेरी एक सुनने के लिए राजी नहीं थी और मेरे लिए सब छोड़ देने के लिए राजी थी। 

कई दिनों तक मै भी सोचता रहा की शयद प्रिया का प्यार मेरे लिए सच्चा है। और अब मै प्रिया से रोज फ़ोन पर बाते भी करने लगा। पर कुछ ही दिन बाद मेरा दोस्त एक दोस्त मेरे पास आया और मुझसे कहने लगा की उससे भी उस रंडी प्रिया का नंबर चाहिए जिससे मै बात करता हु। यह सुनकर मुझे बहुत गुस्सा आया पर मै इस बात पर कुछ कर भी नहीं सकता था। मैने दोस्त से मना करते हुए उसे वापस भेज दिआ और अब मुझे प्रिया को देखकर गुस्सा आने लगा था। प्रिया एक रंडी थी जिसके साथ रहने से मेरी भी इजात पर असर हो रहा था और लोग मुझे किसी दल्ले के तरह समझने लगे थे। मैने अब प्रिया को हर जगह से ब्लॉक कर दिआ और कुछ हफ्तों तक बात नहीं करी। 

जानिए कैसे : चाची की चोट का उठाया फायदा और टाँगे उठाकर खूब चोदा

प्रिया ने मुझसे बात करने के बहुत प्रयास किये पर मैने उन सभी में से एक भी सफल ना होने दिआ। अब प्रिया के इस रंडीपन के कारण मेर नाम पूरे इलाके में बदनाम हो गया था। और प्रिया से प्यार के बजाए नफरत सी हो गयी थी। अब मै सिर्फ प्रिया को चोदने के बारे में सोचता रहता था। प्रिया के दाम बहुत ही ज्यादा महंगे थे इसलिए वह सिर्फ बड़े बड़े होटलो में बड़े लोगो के साथ ही सेक्स किआ करती थी।
अब मैने प्रिया से सेक्स करने के लिए एक प्लान बनाया। क्युकी अब मेरा नाम बदनाम हो ही गया था इसलिए मेने प्रिया से प्यार का नाटक करने का सोचा। इससे मुझसे प्रिया से सेक्स करने का मौका मिल सकता था जिसके लिए मुझसे पैसे भी नहीं दने पड़ते। अब मैने प्रिया से बाते करना फिर से शुरू कर दी और उससे सच्चा प्यार करने का ढोंग करने लगा।

Leave a Comment