मम्मी को देख कर बेहेन की चुत मारी – 1

मैं यूपी के एक गांव में रहता हूँ। मेरा नाम शब्बीर है। मेरे घर में मेरी मम्मी नसीम बानो हैं। मेरी मम्मी को देख कर बुड्ढों के भी लंड खड़े हो जाते हैं। उनकी उम्र 40 की साल की है। मम्मी के मम्मे 38 इंच के हैं और गांड 36  की है। 

वो बेहद हसीन हैं। मेरी आपा (आपा) फातिमा और मेरे पापा गल्फ में 8 साल से हैं। आजकल मेरी बहन फातिमा वापस भारत आ गई थी और घर में ही थी। मेरी मम्मी की जिधर पहले शादी हुई थी, वहां से उनके पहले पति ने फातिमा आपा के साथ उन्हें घर से निकाल दिया था 

क्योंकि मेरी मम्मी कई लोगों के साथ चुद चुकी थीं। उनकी इस आदत को पहले अब्बू को जानकारी हो गई थी। फिर एक दिन मम्मी रंगे हाथों पकड़ी गईं तो उन्होंने मेरी मम्मी को तलाक दे दिया। मम्मी ने मेरे पापा से शादी की। 

एक साल बाद मैं पैदा हुआ। फिर मेरे पापा गल्फ में जॉब के लिए चले गए। अब्बू के जाते ही मेरी मम्मी को आजादी मिल गयी थी। वो हर रोज किसी न किसी के साथ चुदवाने लगीं। धीरे-धीरे लोगों को पता चलता गया और लोग मेरे घर में मेरी मम्मी को चोद जाते। 

अब मेरी मम्मी की भरपूर चुदाई होने लगी थी। मम्मी कई बार दो लोगों को एक साथ लेकर आतीं और पूरी रात मस्ती से चुदवाने का मजा लेतीं। दूसरी तरफ मेरी आपा 23 साल की हो गई थी लेकिन उसके साथ शादी के लिए सब लोग मेरी मम्मी की रांडपने की आदत की वजह से मना करने लगे। 

फिर कुछ महीनों के बाद एक दिन मेरी आपा मेरे बिस्तर पर आई और मुझसे बोली- भाई क्या आप जानते हैं कि मेरी शादी के लिए सब लोग क्यों मना करते हैं? मैं बोला- नहीं। तो आपा बोली- भाई मेरे साथ चलो, मैं दिखाती हूँ। 

लंड की प्यासी 2 बहने – हवस, चुदाई और सेक्स 

माँ को चुदते देखा भाई बेहेन ने 

वो मुझे मेरी मम्मी के कमरे के खिड़की के पास ले आई और बोली- भाई देखो। मैंने देखा तो मेरी आंखें फटी रह गईं। मेरी मम्मी पूरी नंगी थीं और घोड़ी बनी हुई थीं। 

एक बुड्ढा आदमी मेरी मम्मी के मुँह में लंड से चोद रहा था और गांव का सरपंच मम्मी की चूत में अपना लम्बा और 3 इंच मोटा लंड पेलकर फचाफच चोद रहा था। ये सीन देख कर मेरा तो पसीना छूट रहा था। साथ ही सेक्सी सीन देख कर मेरा लौड़ा भी टाईट हो गया था। 

मैंने बाजू में देखा तो मेरी आपा भी अपनी चूत में उंगली करने लगी थी। मेरी आपा के स्तन 32 इंच के और गांड 34 की है। जब मैंने अपनी बहन को चुत में उंगली करते देखा तो पहली बार मुझे भी अपनी आपा को चोदने को मन हुआ। 

सेक्स विद सिस्टर के ख्याल से मैंने अपनी आपा से कहा- हां आपा, मम्मी की चुदाई की वजह से आपकी और मेरी कभी भी शादी नहीं होगी। आपा बोली- फिर हम क्या करें? मैं- तो क्यों हम अपनी जवानी बर्बाद करें, चलो हम आपस में मम्मी के जैसे मजे करें। 

आपा बोली- भाई देखो, मैं भी चुदाना चाहती हूँ। मैंने आपका लंड देखा है और उंगली से अपनी चूत मलाई भी निकाली है। मुझे आपके साथ सेक्स करने में कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन बाहर किसी को पता चल गया तो बदनामी होगी। 

फिर अचानक से मेरी बहन बोली- क्या भाई बहन के बीच सेक्स हो सकता है? मैंने उससे अन्तर्वासना की भाई बहन सेक्स स्टोरी और बाक़ी की सब कहानियां पढ़ने के लिए बोला। मेरी आपा ने अन्तर्वासना पर सेक्स विद सिस्टर कहानियों को पढ़ा और बोली- भाई, देखो मैं आप को बहुत पसंद करती हूँ। 

मैडम की चुत को दी शांति – 1

बेहेन चुत में उंगल करके हो गयी गरम 

हम आपस में एक दूसरे की हवस पूरी करेंगे, लेकिन इस बात का पता बाहर किसी को चला, तो क्या होगा? मैं बोला- हम दोनों किसी को बोलेंगे, तो पता चलेगा न? और फिर हम लोगों में तो रिश्तों में निकाह हो जाता है। 

आपा बोली- भाई फिर ठीक है … आज रात को हम अपनी जवानी के मजे करेंगे। उस दिन रात को कुछ ऐसा हुआ कि हम दोनों भाई बहन को मौका नहीं मिल सका क्योंकि उस दिन मम्मी ने शहर से किसी रईस आदमी को अपनी चुदाई के लिए बुलाया था। 

मेरी मम्मी को उस रात उस आदमी ने मेरी मम्मी को जबरदस्त चोदा। उस आदमी के लंड से अपनी मम्मी की चुदाई का मजा हम दोनों भाई बहन ने लाइव देखा। रात को ही उस आदमी ने मेरी मम्मी से कहा- तू मेरे साथ शहर चल, उधर मैं तुझे एक फ्लैट दिला दूंगा। 

मेरी मम्मी मान गई और सुबह ही वो शहर चली गई। उधर से वो दो दिन बाद घर वापस आई थी। वो हम दोनों भाई बहन को भी शहर वाले फ्लैट में ले गई। अब मेरी मम्मी के आशिक और भी ज्यादा बढ़ते गए। वो रात रात भर घर नहीं आती थीं। सारे शहर में उसके आशिक हो गए थे। इधर शहर में हम भाई-बहन को अकेलापन एक मौका दे गया। 

उस दिन शाम को मम्मी दो दिन के लिए बाहर जाने की कह कर चली गई थीं। रात में मेरी आपा आज नाईटी पहन कर मेरे बगल में आकर लेट गई। मैं हाफ पैंट और बनियान पहनकर ही सोता हूँ। 

आपा को अपने बगल में सोते देख कर मेरा 7 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लौड़ा टाईट हो गया। मैं आपा के मम्मों पर हाथ फेरने लगा। आपा की सांसें तेज हो गईं। उफ़ क्या टाईट दूध थे। पहली बार किसी मर्द का हाथ लगा था। 

आपा ने ब्रा और पैंटी नहीं पहनी थी। मैंने फातिमा आपा की गर्म चूत पर हाथ रखा और फेरने लगा। आपा की सांसें और तेज हो गईं। उफ़ क्या मलाई चूत थी। मेरा लौड़ा ऐसा कड़क हो गया था मानो फट ही जाएगा। फिर मैंने आपा के और मेरे सब कपड़े निकाल दिये।  

Leave a Comment