खेल के साथ चुदाई का मजा – 2

20 मिनट बूब्स और निप्पल को चुसने के बाद मैंने सरिता को कहा – अब तेरे लहंगे का नाप लेना है… जींस उतारो फिर सरिता जल्दी से जींस निकालने लगी और और अंदर काले रंग कि पैंटी पहनी थी और जींस उतारने के बाद सरिता मेरे सामने के काले रंग कि पैंटी में खड़ी थी। 

फिर मैंने सरिता कि गांड को देख बोले बहुत मोटी गांड़ है तुम्हारी अब मेरे तरफ घुम जाओ। फिर जब सरिता मेरे तरफ घुमी तो मैंने देखा सरिता कि पैंटी को चुत ने पानी छोड़ कर गीला निशान बना दिया था तो मैंने कहा – सरिता तेरी चुत बिना चोदे ही पानी छोड़ रही है। 

तो सरिता मुझे देख कर मुस्कुरा रही थी फिर मैंने सरिता कि पैंटी को नीचे खींच कर और अपने हाथ को चूत पर रख कर मसलने और दबाने लगे। तो सरिता छटपटाने लगी। 

फिर मैंने अपने मुँह को सरिता कि चूत पर रखी और चूसने लगे तो सरिता और ज्यादा छटपटाने लगी। कुछ देर चुत चूसने के बाद खड़ा होकर मैंने सरिता के एक बूब्स को मुँह में लेकर जोर से काटा लिया। 

तो सरिता दर्द के कारण मुझसे छुटने के लिए धक्का दे दी। फिर मैंने अपने जींस को निकाल दिया तो मेरा 7 इंच का लोडा खड़ा झटका दे रहा था तो सरिता देखकर बहुत खुश हुई। 

सीधी सदी लड़की की भी चुदाई कर दी – 1

मुह्ह में दे दिआ लंड निचे बिठा के

फिर मैंने सरिता के बाल को पकड़ नीचे बिठाए और लोडा को सरिता के मुँह में डाल कर बोले चुसो अब। फिर सरिता मेरे लोडा को अपने मुँह में लेकर पुडा लोडा मुंह में लेकर चूसने लगी और मस्ती से कराहें भरने लगी। 

जब मेरा लोडा और ज्यादा टाइट हो गया तो मैंने सरिता को कहा अब उपर बेंड पर कुतिया बन जाओ। फिर सरिता जल्दी से उल्टी बेंड पर चढ़ कर कुतिया बन गई फिर मैंने सरिता के पीछे से अपना लोडा चूत में एक ही झटके में पुरा लोडा अंदर तक डाल दिए। 

तो सरिता दर्द से चीख निकलने लगी और गाली बकने लगी आह आह आह बहनचोद… मेरी चूत फाड़ दी मादरचोद… साले आराम से डाल कर चोदते एक ही पुरा लोडा। डाल कर चुत फाड़ देते हो। 

फिर मैंने सरिता कि चूतड़ों पर दो चमाट खींच कर मारे तो दोनों चूतड़ों पर निशाना छप गए। फिर मैंने सरिता के कमड को‌ पकड़ कर बहुत तेज स्पीड से सरिता को चोदने लगे। तो पांच मिनट में ही सरिता कि चुत एक बार झड़ गई।

होटल में बुझा दी बुआ की प्यास – 1

सरिता को दुबारा चोदने का भी बन गया प्लान

फिर मैंने लोडा को चूत से निकाला कर आगे सरिता के मुँह में डाल दिए तो सरिता मेरे लोडा चुसने लगी फिर मैंने एक उंगली को सरिता कि गांड के छेद में डाल कर उंगली करने लगे. और आगे से सरिता मेरा लोडा चूस रही थी। 

फिर मैंने लोडा को मुँह से निकाल कर पीछे‌ जाकर सरिता के गांड़ के छेद पर थूके और सरिता को बिना बताए एक ही झटके में गांड में लोडा डाल दिए और गांड को चोदने लगे। 

तो सरिता को दर्द होने लगा था तो आआआआ आह उह करती रही 5 मिनट चुदने के बाद सरिता को भी गांड मराने में मजा आने लगा। फिर मैंने सरिता के बूब्स को पकड़ कर और गांड पर चाटे मार कर गांड़ को चोदने लगे और 25 मिनट कि चुदाई के बाद में सरिता कि गांड़ में ही झड़ गए। 

फिर मैंने अपने लोडा को सरिता के गांड़ से निकाल कर उसके मुँह में डाल कर बोले – जल्दी से लोडा को चुस कर और चाट कर साफ करो। फिर हम दोनों सो गए और जगे तो शाम हो गया था। 

तो मैंने कहा सरिता मुझे और चोदना है तुम्हे तो सरिता बोली कल घर 12 बजे आ जाओ कोई नहीं रहेगा। फिर हम दोनों अपने घर चले गए।  

Leave a Comment