मौसी की लड़की को चोदा – 1

दोस्तो, मेरा नाम प्रदीप है। मैं राजस्थान के श्री गंगानगर जिले के छोटे से गांव का रहने वाला हूँ। अन्तर्वासना का मैं पिछले कई सालों से पाठक हूँ। इसलिए मैंने सोचा कि आज मैं भी अपनी सेक्स कहानी आप लोगो के साथ साझा करूं। 

इस सेक्स कहानी में मैं आपको बता रहा हूँ कि कैसे मैंने अपनी बहन की शादी में आई अपनी X X सेक्स बहन के साथ किया। यह सेक्स कहानी कुछ महीने पहले की ही है। मेरी बहन की शादी 15 तारीख को थी तो मैं अपने गांव के लिए 5 तारीख को ही निकल गया। 

वहां मेरी मौसी की लड़की साक्षी पहले से ही वहां आई हुई थी। साक्षी को मैंने काफी दिनों बाद देखा था, वो काफी भर गई थी और एक कांटा माल बन गई थी। चूंकि साक्षी मुझसे एक साल ही छोटी थी तो पहले से ही हम दोनों की व्हाट्सैप पर खूब चैट होती थी। 

हालांकि मेरी उससे जो भी चैट होती थी वो एक फैमिली ग्रुप पर होती थी। उस दिन दोपहर में बस के सफर से मैं काफी थक गया था तो घर आकर पहले आराम करने लगा। शाम को सभी ने साथ में इंजॉय किया और साक्षी के साथ मेरी खुल कर बातचीत हुई। 

वो मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड को लेकर बात करने लगी। मैंने उससे कहा कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है। मैं इन सब चक्करों में नहीं पड़ता हूँ। वो हंसी मजाक करती रही। कुछ ही देर में वो मेरे साथ काफी सहज हो गई थी और मुझे भी उसका बातचीत करने का अंदाज काफी फ्रेंडली लगने लगा था। 

वो मुझे बातचीत के दौरान कुछ ऐसा करने लगी थी, जो मुझे गर्म करने लगा था। मैंने एक बार उससे कहा भी कि जरा दूर रह … मुझे कुछ हो जाएगा, तो तू झेल नहीं पाएगी। 

आंटी ने सिखाई चुदाई चुत की – 1

शर्माने लगी चुदाई से पहले ही 

वो हंसने लगी और बोली- क्यों तेरे में कांटे लगे हैं क्या, जो मैं झेल नहीं पाऊंगी। मैंने उसकी ये बात सुनी तो उससे कहा- तू जानती भी है कि तू क्या बोल रही है? वो हंसने लगी और बोली- साले, तू कुछ ज्यादा ही उड़ रहा है। 

मैंने ऐसा कुछ नहीं कहा, जो मुझे दोबारा से याद करना पड़े। मैंने कहा- अच्छा एक बार फिर से वही बोल कर देख? वो बोली- क्या बोल कर देखूँ? मैंने कहा- वो ही जो तूने अभी झेलने वाली बात को लेकर कहा था। 

वो बोली- हां हां, मैंने उसमें क्या गलत कहा था। लो फिर से बोल देती हूँ। मैंने कहा- हां बोलो। वो बोली- तुझमें कौन से कांटे लगे हैं जो मैं तुझे झेल नहीं पाऊंगी। मैंने कहा- तूने ये नहीं कहा था बेबी। 

वो बोली- फिर क्या कहा था, तू बोल? मैंने कहा- तूने कहा था कि तेरे में कौन से कांटे लगे हैं, जो मैं तुझे झेल नहीं पाऊंगी। उसने मेरी बात को सुना और मुँह पर हाथ रख कर शर्माने लगी। फिर बोली- साले तू बड़ा कमीना है … मुझे ही बातों में फंसा रहा है। 

मैंने कहा- फंस तो नहीं गई, जरा ठीक से देख ले। वो मेरी तरफ मुक्का मारने को दौड़ी। इसी तरह की बातचीत से हम दोनों एक दूसरे से काफी फ्रेंक हो गए थे। अब रात गहरा गई थी तो सभी सोने की तैयारी करने लगे। 

हम सभी ने नीचे ही बिस्तर लगा लिए और सभी नीचे ही सोने लगे। मैं जिद करने लगा कि मुझे कूलर के आगे सोना है तो मैं और साक्षी दोनों पास पास में ही सो गए। रात के करीब 12।30 बजे के आस पास मुझे लगा कि वो सो गई है, तो मैं उसके साथ सेक्स वाली हरकतें करने लगा। 

मैं उसके कुर्ते के ऊपर से ही उसके बूब्स को दबाने लगा। मुझे डर थोड़ा कम लग रहा था क्योंकि मेरे और साक्षी के बीच काफी खुली खुली बातें हो चुकी थीं तो ये तो तय था कि साक्षी शोर नहीं मचाएगी। मैं उसके बूब्स को मसलता रहा। 

बाबा ने दिआ भाभी को बच्चा – 1

बूब्स को दबाने के बाद गालो को भी चूमा 

मैंने दो तीन बार उसको आवाज दी, पर जब वह कुछ नहीं बोली तो मैं आराम से उसके मम्मों को मसलता रहा। थोड़ी देर उसके बूब्स मसलने के बाद उसने मुझसे धीमी आवाज में कहा- क्यों बे नींद नहीं आ रही है क्या? मैंने कहा- नींद ही आती तो तुझसे क्यों पंगे लेता। 

यह कहने के बाद मैंने उसका कुर्ता ऊपर उठाया और उसके रसभरे मम्मों को जोर जोर से मसलने लगा। इस कारण उसकी सांसें तेज हो गईं। थोड़ी देर बूब्स मसलने के बाद में उसके ऊपर चढ़ गया और एक दूध को पीने लगा। 

वो भी मस्ती से मुझे दूध पीने दे रही थी। थोड़ी देर बाद मैं साक्षी की सलवार के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा जिसका उसने कोई विरोध नहीं किया। मैं खुश हो गया कि आज काम बन जाएगा। 

फिर मैं उसकी सलवार का नाड़ा खोलने लगा तो उसने रोक दिया। वो बोली- ये किसी और की अमानत है। मैं भी रुक गया। मुझे लगा ही नहीं था कि ये साली अभी कुंवारी सी चूत लेकर ही घूम रही होगी। 

उसकी बात का मतलब मैंने यही लगाया था कि ये अभी चुदी नहीं है। यही सोच कर मैंने उसकी सलवार नहीं उतारी और मैं मुठ मारने लगा। मुठ मार कर मैंने अपना माल साक्षी के पेट पर ही गिरा दिया और मैं उसको किस करने लगा। 

मैंने उसके गालों पर खूब चुम्बन किए। करीब 5 मिनट उसके गालों पर किस करने के बाद मैं उसके गले को किस करने लगा, फिर माथे पर और धीरे धीरे मैं उसके मम्मों पर वापिस आ गया। 

Leave a Comment