बेहेन ने लपक कर लिआ मेरा लंड और मरवाई चुत – 2

जैसा की अपने पढ़ा दीदी ने मुझे बाथरूम में नंगा देख लिआ था और खूब सारी बातो के बाद दीदी ने मुझे नहलाने के लिए हां भर दी और आज मेने अपना अंडरवियर भी नहीं पहना हुआ था जिससे की मै पूरा नंगा था। 

अब दीदी मेरे पास आ गयी और दीदी ने मुझे बैठने के लिए कह दिआ। दीदी मेरे सामने कड़ी हुई मेरे सर पर पानी डाल रही थी और साबुन घिस रही थी। दीदी ने अच्छे से मेरे बाल धो दिए थे और अब उन्होंने साबुन लेते हुए मेरी गर्दन को भी मसला। 

दीदी ने अब मुझे साबुन दिआ और अपने पेट पर लगाने के लिए बोला और मेने वैसा की किआ। निचे अबतक मेरा लंड बैठ चूका था और मेरी हवस भी थोड़ी कम हो चुकी थी। 

पर अब दीदी ने मुझे डाटा और कहा की क्या मुझे साबुन अच्छे से नहीं लगाना आता। दीदी ने अब मुझे कहा की मै खड़ा हो जायु और मेने वैसा ही किआ। अब दीदी ने अपने हाथ में साबुन लिआ और मेरे जिस्म पर हाथ चलाने लगी। 

दीदी का हाथ अब मेरे पेट से होते हुए मेरे लंड पर भी जा रहा था और मेरे लंड में तनाव आने लगा था। अब दीदी निचे बैठ गयी और मेरे पेरो पर साबुन मलने लगी। धीरे धीरे उनके हाथ मेरे लंड पर लग रहे थे। 

मै भी चुपचाप खड़ा हुआ दीदी को देख रहा था। अब दीदी ने यह देखा की मै उन्हें कुछ भी नहीं बोल रहा हु दीदी ने थोड़ा सा साबुन अपने हाथ में लेते हुए मेरे लंड को हाथ से मसलना शुरू कर दिआ। 

दीदी ने लंड को साबुन लगाते हुए मुझे कहा की क्या मै इस जगह को सही से साफ़ नहीं करता क्या ? मेने अब भी कुछ यही बोला और दीदी के हाथ से मेरे लंड की अभी अच्छी खासी मसाज हो रही थी। 

और भी सेक्सी कहानिआ : Antarvasna story

दीदी ने चूसा मेरा लंड अच्छे से 

अब दीदी ने पानी लेते हुए मेरे लंड पर डाला और साबुन को हटा दिआ और मुझे कहा की देखो अब यह कितना साफ़ दिख रहा था और ऐसा कहते हुए उन्होंने मेरे लंड को एक चूमा दे दिआ। 

इससे मेरे लड़ में और भी तनाव आ चूका था और अब दीदी ने मेरी नजर में एक बार देखते हुए मेरे लंड को प्यार से चूमना शुरू कर दिआ। मेने भी अपन हाथ अब दीदी के सर पर रख लिआ और थोड़ा सा दबाव उनके सर पर डाला। 

अब दीदी ने मेरे लंड को अपने मुह्ह में थोड़ा थोड़ा लेना शुरू कर दिआ और साबुन को निचे फेकते हुए वह मेरे को ऐसे ही हिलाने  लग गयी। मेरे लंड को वह अब अच्छे से चूसे  पूरा लंड उनके मुह्ह में अंदर बाहर हो रहा था। 

दीदी की हवस भी अब चरम पर आ गयी थी और वह मेरे लंड को जोर जोर से चूसते हुए उसे मसल रही थी। दीदी ने अब मुझे कहा की उन्हें इस जगह की अच्छे से सफाई करनी होगी इसलिए हमे ऐसे ही कमरे में जाना पड़ेगा। 

मै अब उनके पीछे चलने लगा और  हम दोनों कमरे में आ गए। दीदी ने मुझे लिटाया और मेरे को अच्छे से चूसने लगी। दीदी ने अब बारी बारी से अपने ऊपर के कपडे भी निकाल दिए थे उनके दोनों बड़े बड़े बूब्स मेरे सामने नंगे थे। 

पडोसी की बीवी को पेला और दिए पैसे

दीदी ने चुत में लिए मेरा मोटा लंड चुदाई के लिए 

दीदी अब हवस से हाफ रही थी और उनका एक हाथ मेरे लंड पर था। दीदी अब ऊपर आयी और हवस भरी नजरो से मुझे देखते हुए मी होठो को चूसने लग गे। वह मेरे होठो से रस चूसे जा रही थी और उनके होठो की थूक भी मेरे होठो से मिल रही थी। 

मेरी बेहेन अब अपने काबू में नहीं थी और मेरे लंड को देखते हुए उन्होंने कहा की देख भाई मेरे यहाँ की जगह तुझसे कितनी साफ़ है और ऐसा कहते हुए दीदी ने अपने पजामे को निकाल दिआ। 

दीदी की चुत पर सच में एक भी बल नहीं था और उनकी चुत का रंग थोड़ा  सा काला था जो की शायद पहले भी किसी से चुद चुकी थी। अब दीदी ने मुझे कहा की उनकी चुत मेरे लंड से बहुत साफ़ है। 

अब दीदी ने मेरे लंड को पकड़ते हुए जोर जोर से हिलाया और अपनी चुत में लंड को लेते हुए उसपर बैठ गयी। दीदी ने अपनी आंखे बंद करते हुए मेरे लंड को बहुत ही प्यार से अपनी चुत में लिआ। 

और अब दीदी मेरे लंड पर कूदने लग गयी। दीदी जोर जोर से मेरे लंड पर अपनी चुत को मारे जा रही थी जिससे चुदाई बहुत ही अच्छे से  होने लगी और दीदी के मुह्ह सभी आहे निकलना शुरू हो गयी थी। 

दीदी आह आह आह आह करते हुए मेरे लंड पर कूदे जा रही थी और तेज तेज हाफ रही थी। मेरे हाथ भी दीदी के दोनों बूब्स पर थे  जो उन्हें हुए दीदी को और भी ज्यादा गरम कर रहे थे। 

दीदी काफी थक चुकी थी और अब दीदी मेरे ऊपर ऐसे ही लेट गयी और मेरा लंड अभी भी उनकी चूत में ही था। मेने अब दीदी को अपनी बहो में जकड़ा और निचे से लंड जोर जोर से चुत में देने लगा। 

दीदी मेरे कान में ही और जोर से आह आह आह और तेज करो चिल्लाने लगी जिससे मेरा जोश दुगना हो गया और मेरे चुदाई और भी तेजी से करनी शुरू कर दी। तेज चुदाई से मेरे लंड में से भी अब पानी आने ही वाला था और मेने जल्दी से अपना लंड दीदी की चुत से बाहर निकाल लिआ और सारा माल जमीन पर ही निकाल दिआ। 

Leave a Comment