बेहेन ने करवाई ब्लैकमेल करके चुदाई – 3 

अगर आप यह तक आ गए है तो आपको पता होगा की मेरी बेहेन और मै दोनों नंगे हो चुके थे और मुठ मरते हुए पकड़ने के बाद मेरी बेहेन ने मुझे ब्लैकमेल करके सेक्स करने के लिए मना लिआ था। और पढ़िए अब आगे। 

मेरी बेहेन ने अब मुझे इशारा किआ की मै बिस्तर पर चला जायु और अब हवस से भरा हुआ मै भी अपनी बेहेन की हर बात मानने के लिए राजी था। मै अब बिस्तर पर लेट गया और मेरा लंड अभी तक खड़ा हुआ था। 

अब मेरी बेहेन ने अपनी ब्रा का हुक पीछे से खोल लिआ और ऊपर से पूरी नन्ही हो गयी। मेरी बेहेन की निप्पल खड़ी हो रखी थी और अब मेरी बेहेन ने निचे होते हुए अपनी पैंटी को भी निकाल देखा। 

वह अब पूरी नंगी हो गयी थी और चुदाई के मूड में थी। वह अब मेरे ऊपर आ गयी और मुझे चूमने लगी। उसकी चुत और मेरा लंड निचे रगड़ खाते हुए एक दूसरे के साथ खेल रहे थे और हम दोनों ऊपर एक दूसरे के होठो से रस चूस रहे थे। 

अब कुछ देर बाद मेरे बेहेन ने मेरे बदन पर चुम्बन करना शुरू कर दिआ जिससे मै पागल सा हो गया और मुझे चूमते हुए वह मेरे लंड पर जाकर रुक गयी। मेरे लंड को उसने वापस से अपने मुह्ह में लिआ और चूसते हुए पूरा सख्त बना दिआ। 

पर अब मेरी बेहेन एकदम ही रुक गयी और वह बिस्तर पर खड़ी हो गयी। वह अब मेरे मुह्ह के पास आयी और अपनी चुत को मेरे मुहहह पर लेके बैठ गयी। मेने अब अपनी जीभ को अपनी बेहेन की चुत की फांको में दिआ और चुत को चाटने लगा। 

मेले में मिला चुदाई का मजा लड़की से – 1 

बेहेन की चुत चाटी और हो गया गरम 

आहे लेती हुई मेरी बेहेन अपनी चुत की अच्छी खासी चटाई करवा रही थी। और उसकी चुत बहुत ज्यादा गीली भी हो गयी थी। मेरी बेहेन की चुत पर एक भी बाल ना होने की वजह से उसका रंग बहुत गुलाबी हो गया था जिसे देखकर चाटते हुए मुझे काफी मजा आ रहा था। 

पर अब काफी देर तक चुत को चाटने से मेरी बेहेन बहुत कामुक हो गई थी और व्वह अब चुदाई के लिए उतारी थी। अब वह मेरे मुह्ह से उठी और उसने मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चुत में लेना शुरू कर दिआ। 

दीदी की चुत बहुत ही ज्यादा टाइट थी और धीरे धीरे अब मेरा लंड उसकी चुत में एकदम फिट हो गया। ऊपर निचे होते हुए अब मेरी बेहेन अपनी चुत की चुदाई मेरे लंड से करवाने लगी। 

आह आह करते हुए हम दोनों ही चुदाई का पूरा मजा उठा रहे थे और हम भूल  दोनों ही भूल चुके थे की हम दोनों में भाई और बेहेन का रिश्ता है और अपनी बेहेन के बूब्स को पकड़ते हुए मै भी निचे से अपना लंड चुत में ठोके जा रहा था। 

चुदाई बहुत ही जोरदार तरीके से चल रही थी और मेरी बेहेन भी हफ्ते हुए अपनी चुत को मेरे लंड पर रगड़ रही थी। अब काफी देर बाद वह बहुत जड़ा थक गयी थी पर हम दोनों का अभी तक पानी नहीं निकला था। 

बेहेन से बेहेन का प्यार और चुत की चटाई 

बेहेन की टांगे उठाके चोदा 

अब मेने अपनी बेहेन को निचे कर दिआ और उसकी टांगो को उठा लिआ। निचे से उसकी चिकनी चुत साफ़ साफ़ दिखाई दे रही  थी और मेने अब अपना लंड सीधा छेद में घुसा डाला। 

मेरी बेहेन अब थोड़ा दर्द में आ गयी पर हवस की वजह से वह अब चुदाई में फिर से खो गयी और मेने उसकी टांगो को कंधो पे लेते हुए अपना लंड तेजी से आगे पीछे करना शुरू हो गया। 

दीदी की चुत से अब सफ़ेद पानी आना शुरू हो गया था पर चुदाई में खोये हुए हम दोनों ही  इस बात से अनजान थे और चुदाई की आहो को सुनते हुए मै बस चुदाई करता। 

 अब मेरे लंड में भी पानी आने ही वाला था और मुझे पता था की मुझे अपनी बेहेन की चुत में यह पानी नहीं निकालना है। इसलिए अब मेने चुदाई की रफ़्तार और भी तेज कर दी और मेरी बेहेन आह आह आह आह आह करने लग गयी। 

अब जैसे ही मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा मेने उसे चुत से बाहर निकाला और सारा वीर्य अपनी बेहेन के पेट पर निकाल दिआ। इस चुदाई से हम दोनों ही बहुत ज्यादा थक गए थे और काफी देर तक बिना कुछ बोले हम बिस्तर पर सोये रहे। 

अब कुछ देर बाद जब हमारी आंखे मिली हम दोनों एक दूसरे को देख कर हसने लग गए और मेरी बेहेन भी आज इस चुदाई से बहुत ही ज्यादा खुश दिखाई से रही थी और इसलिए हम दोनों प्लान करके रात को भी बहुत ज्यादा चुदाई करि। 

Leave a Comment