मौसेरी बेहेन की चुदाई कर दी – 4

उसके कोमल और नर्म मुलायम हाथ मेरे लंड की नसों को भड़का रहे थे। अब एकदम से उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाल लिया और अंदर बाहर करके चूसने लगी। मैं आह … आह … किये जा रहा था और वो मेरे लंड को चूसे जा रही थी। 

कुछ देर बाद वो आकर मेरे मुंह पर बैठ गई और चूत मेरे होंठों पर रख दी। मैं उसकी चिकनी चूत को काटे जा रहा था। मेरे हाथ उसके दूध दबा रहे थे और कालिनी आह … आह … करके सिसकारियां भर रही थी। अब हम दोनों पूरे जोश में थे।

कालिनी को लिटाकर मैंने उसकी चूत में लंड टिकाकर धक्का दिया, चूत में लंड जा नहीं रहा था। मैंने उस पर थूक लगाया और एक झटके में लंड को बहन की चूत के अंदर घुसेड़ दिया। कालिनी लंड के झटके से चीख उठी और एक पल के लिए उसकी साँसें अटक गईं। 

मैंने लंड को बाहर निकाला और फिर आराम से दोबारा अंदर डाल दिया। कुछ देर मैं रुका और फिर धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगा। मगर जब कुछ देर बाद मैंने नीचे देखा तो मेरा लंड उसकी चूत के खून में सन गया था। उसकी चूत की सील टूट गई थी। 

फिर धीरे धीरे मैंने स्पीड बढ़ा दी। उसको दर्द होता रहा लेकिन मैं रुका नहीं! वो फिर नॉर्मल हुई तो मैं उसको पूरे जोश में चोदने लगा। अब वो मस्त होकर चुदवा रही थी। 

दस मिनट की चुदाई के बाद मेरा माल निकलने वाला था … मैंने लंड को एकदम से बाहर खींच लिया और कपड़े से पौंछकर उसके मुंह में डाल दिया। वो चूत की चुदास में मेरे लंड को पूरा गले तक लेते हुए चूसने लगी।

हवसी लड़की और उसकी चुदाई की कहानी – 1

चुत के बाद बेहेन की गांड में दी उंगली

कुछ देर तक वो मेरे लंड को चूसती रही, फिर जब मेरा वीर्य निकलने को हुआ तो मैंने उसे घुटनों पर बिठा दिया और खुद मैं खड़ा हो गया। थोड़ी देर में मैंने अपने वीर्य को उसके मुंह में झाड़ दिया और वो बड़े स्वाद से उसे पी गई। 

हम थक कर लेट गए। दूसरे राउंड के लिए मैं अपने लंड के खड़े होने का इंतजार करने लगा। मैं बोला- देखो, हमारे बीच जो तय हुआ था कि मैं तुम्हारी गांड भी मारूंगा तो उसके लिए तैयार हो जाओ। वो बोली- नहीं भाई, अब नहीं। मुझे बहुत दर्द होगा। 

मैं अब गांड नहीं मरवा सकती … वैसे ही चूत फट गई है। मैंने कहा- कुछ नहीं होगा, चुपचाप घोड़ी बन जाओ। अब मेरा लंड खड़ा हो गया है। उसके नानुकुर करने के बावजूद भी मैंने उसे घोड़ी बना दिया और पास में टेबल पर रखी क्रीम की डिब्बी उठा लाया क्योंकि मुझे पता था कि उसकी चूत इतनी टाईट है तो गांड का आलम ही क्या होगा। 

वो घोड़ी बनी हुई थी जिसे देखकर मेरा तो खुद पर काबू ही नहीं हो रहा था। मोटी चौड़ी गांड के बीच में उसकी चुदी हुई चूत … मैं तो बस उसकी गांड को चाटने लगा। 

जीभ को उसकी गांड में रखते ही उसके पूरे जिस्म में सिहरन दौड़ गई और वो कुछ ही पल में आह … उह … उई … माँ की आवाजें करने लगी। मैंने जी भरकर उसकी गांड को जीभ से चाटा। अब मैंने उसकी गांड में उंगली डाल दी।

मौसी की लड़की को चोदा – 1

अपनी ही बेहेन की गांड और चुत मारी

मेरा अंदाज़ा सही था, उसकी गांड बहुत टाईट थी। मैंने कुछ पल उसकी गांड में उंगली की और फिर लंड पर क्रीम लगाकर उसकी गांड पर भी ढेर सारी क्रीम लगा दी। अब मैंने उसके चूतड़ों को थाम लिया और लंड का टोपा उसके छोटे से छेद पर टिका दिया। 

मैंने हल्का सा धक्का दिया तो वो चीख पड़ी। मैं उसकी पीठ को सहलाने लगा। फिर मैंने दूसरा धक्का दिया और हल्का सा टोपा उसकी गांड में घुस गया। वो छुड़ाकर आगे भागने लगी तो मैंने उसे पलटकर उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और उसके चूचे दबाने-सहलाने लगा। 

मेरा टोपा अभी भी उसकी गांड में ही था। फिर मैंने धीरे धीरे उसको किस करते हुए ही लंड को आगे धकेलना जारी रखा। वो छटपटाती रही लेकिन मैंने पूरा लंड घुसाकर ही दम लिया। लंड उसकी गांड में पूरा फंस गया था। 

अब मैंने उसको झुकाकर उसकी गांड चोदना शुरू किया। कुछ देर में उसको हल्का हल्का मजा आने लगा। फिर वो चुदवाते हुए आह्ह … आह्ह … करके आवाजें करने लगी जिससे मेरा स्खलन जल्दी ही नजदीक आ गया। 

मैंने धक्के मारते हुए उसकी गांड में ही अपना माल गिरा दिया। उसकी गांड मारकर मैंने पूछा- और बता बहन … कैसा मजा आया अपने भाई से चुदकर? वो कराहते हुए बोली- भाईजान … मैं इस चुदाई को कभी नहीं भूल सकती। 

आखिर मेरे भाई ने जो मुझे पहली बार चोदा है। दोस्तो, अगली कहानी में बताऊंगा कि कैसे मैंने खाला और कालिनी को एक साथ चोदा। आपको कहानी अच्छी लगी होगी। तो कमेन्ट करना और अपने दोस्तों से शेयर करना

Leave a Comment