बेहेन ने करि मेरे लंड की सवारी – 1

मेरी बेहेन मुझसे ज्यादा बड़ी नहीं  थी पर उसका जिस्म किस औरत की तरह होता जा रहा था। वह दिखने में बहुत ही ज्यादा सेक्सी और हॉट होती जा रही  थी और उसे देखकर मुझे भी कभी कभी सेक्स आने लगता था। 

अब सोच रहे होंगे की मै केसा भाई हु पर मै आपको बता दू की मेरे पापा ने दो शादी की हुई थी इसलिए वह मेरी सगी बेहेन नहीं थी और मेरी दूसरी मम्मी की तरह से वह उनकी एक लड़की थी। 

अब आते है आगे। . मेरी बेहेन अब मेरे साथ सभी कामो में मेरी मदद करने लगी थी। मम्मी की मै हर बात मानता था क्युकी मेरे पापा ने कहा की था की वह भी मेरी माँ जैसी ही है और मेरी सगी माँ के जाने के बाद भी मै उनकी सही से इज्जत करू। 

 आज मेरी बेहेन मेरे साथ ऊपर कपडे उतारने के लिए आयी हुई थी और वह आज भी बाकि दिन की तरह काफी सेक्सी लग रही थी। अब उसे देखकर मेरे दिल में भी उलटे ख्याल आने लगे थे। 

अब कपडे उतारते हुए मै उसे ही देख रहा था की उसका शरीर आज ककीतना अच्छा दिख रहा था और काश मै उसे पकड़ कर उसकी अच्छे से चुदाई कर सकता जिससे मुझे काफी मजा आता। 

मौसी की बेटी के बड़े बूब्स और कारनामे – 2 

बेहेन को छत पर किआ गरम 

अब मेरी बेहेन को देखते हुए मुझे  और मेने कपडे उतारने भी बंद ही कर दिए थे। अब मेरी बेहेन ने मुझे देखा और कहा  देर से क्या सोच रहा हु। वह अंदर ही अंदर शायद समझ चुकी थी की मै उसे ही देख रहा था पर उसने मुझे कुछ भी नहीं कहा। 

अब मेने बेहेन से कहा मै  यह सोच रहा था की आज है हम दोंनो काफी दिन के बाद छत पर आये है और मुझे तो यह भी याद नहीं आ रहा था की हम साथ में ऊपर किस दिन आये थे। 

वह भी अब यह सोचने लगी की हम आखिरी दिन छत पर साथ में कब आये थे। उसने भी मुझे कहा की यह तो याद करना बहुत ही मुश्किल है और अब उसने वापस से कपडे उतरने चालू कर दिए। 

मेने अब उससे कहा की उसने वह अपने कुछ कपडे छोड़ दिए है जिन्हे वह उतारना शायद से भूल गयी है। उसने अब यह बात कुछ उलटी तरह  से सोच ली और उसे लगा की मै उसके जिस्म पर लगे हुए कपड़ो के बारे में सोच रहा था। 

अब वह हस्ते हुए मुझसे कहने लगी की वह यह कपडे भी निकाल गतो देगी पर अभी हम दोनों छत पर है जहा उसे बाकि लोग भी देख ही लेंगे। ऐसा कहने के बाद अब वह फिर से हसने लगी। 

मुझे भी उसी के साथ हसी आ रही थी पर अब उसने सरे कपडे उतारने के बाद मुझे कहा की चलो अब हम दोनों निचे चलते है। मेने अब  उसे बिना रुके कहा की क्या वह मुझे निचे कपडे उतार  दिखाएगी। 

ऐसा कहने के बाद अब मै काफी जोर जोर से हसने लगा। वह भी मेरी इस बात पर है रही थी पर ज्यादा जोर से नहीं और अब हम दोनों ही निचे आ गए और वह सरे कपडे मम्मी के पास निचे ले गयी जिससे की सरे कपडे अपनी जगह पर लग जाये। 

मौसी की सेवा कर मिली जोरदार चुदाई

बेहेन हो गयी मेरे सामने नंगी 

अब कुछ ही देर बाद वह वापस से ऊपर मेरे ही कमरे में आ गई और मुझ से कहने लगी की को मै उससे छत पर क्या बोल रहा था उसे फिर से बोल कर दिखायु। 

इस समय वह थोड़ी गुस्से में दिख रही थी इसलिए मेने अब बात को ख़तम करने के लिए बोल दिआ की मेने उसे तो कुछ भी नहीं बोला था और वह बस मेने ऐसे ही मजाक में कहा था। 

अब वह थोड़ा गुस्से में आ गयी और मुझ से कहने लगी की मेने उसे उतारने के लिए कहा था ना ? तो लो अब उसे बिना कपड़ो के ही मै देख लू और ऐसा कहने के बाद उसके ऊपर करते हुए अपना टॉप निकाल दिआ निचे फेक दिआ। 

अब उसकी लाल रंग की ब्रा मुझे साफ़ साफ़ दिख रही थी जिसे देखते ही मेरे जिस्म में आग लग गयी पर फिर भी मेने अपनी नजर को फेरते हुए उसे कहाः की वह ऐसा क्यों कर रही है। 

उसने मुझे कहा की मेने ही तो उसे ऐसा कहने के लिए बोला था और मै खुद ही अपना मुहहह फेर रहा हु। आगे की कहानी अगले भाग में। …  बेहेन ने करि मेरे लंड की सवारी – 2 

Leave a Comment