स्कूल वाली मेडम से हुआ सच्चा प्यार

यु तो  मै अभी केवल 11वी क्लास में ही था पर मै शुरू से ही एक बिगड़ा हुआ लड़का था जिसे हवस चुदाई और सेक्स की बहुत ही ज्यादा भूक थी। हवस मेरी जिस्म जिस्म में था जिसे भुजने के लिए मै टॉयलेट में जाके लंड भी हिलाया करता था। 

पर स्कूल में सभी लड़कीओ से ज्यादा मुझे अपनी मेडम पसंद थी जो की मेरा सच्चा प्यार थी। मेडम की चुदाई के सपने में लगभग रोज ही देखता था पर वह मेडम जितनी दिखने में सुन्दर थी उतनी ही गुस्से वाली भी थी। 

आज टीचर डे था और आज मेडम और भी ज्यादा सुन्दर दिख रही थी। मेडम की लाल साडी और भी ज्यादा सेक्स सिख रही थी जिससे मेरी हवस जा कीड़ा जाग गया था। 

मेडम की लाल साडी देख मै अपनी नजरे मेडम से दूर ही नहीं कर पा रहा था और मेडम के पीछे पीछे ही चल रहा था। मेडम ने मुझे कई बार देख भी लिआ था पर मुझे अब किसी का भी डर नहीं लग रहा था। 

अब  मेडम आगे जेक रुक गयी और उन्होंने पीछे मुड़कर मुझे देखा। उस दिन  मेरे पास एक गुलाब भी था जो मै मेडम के लिए ही लाया था। अब जैसे ही मेडम  मेरी गांड सी फैट गयी। 

पर अब मेने हिमायत रखते हुए खुद को मेडम तक ले गया और अपना गुलाब  मेडम को दे दिआ और चुप हो गया। मेडम मुझ से खुश हो गयी क्युकी किसी ने भी उन्हें यही तक कोई गुलाब नहीं दिआ था। 

मेडम को खुश देख मेने मैं को आई लोव यु भी बोल दिआ जिसे सुन कर मेडम चौक गयी। अब मुझे फिर से डर लगने लगा पर अब कुछ उल्टा ही हो गया। मडाम ने मुझे कहा की उनके पास मेरे लिए भी एक गिफ्ट है जो वह मुझे आज छुट्टी के बाद देंगी इसलिए मै रुक जायु। 

भाभी की तेल वाली मालिश और चिकनी चुत की चुदाई 

मेडम से लिआ चुम्मा और मेडम ने करवाई चुदाई 

अब मै छुट्टी का इन्तजार करने लगा और जैसे ही अब छुट्टी हुई मै सीधा मेडम के कमरे में चला गया। मुझे लगा की मेडम मेरे बारे में भूलकर अपने घर चली गयी होगी। पर जैसे  ही मै बाहर आया मेडम ने मुझे आवाज दी। 

मेडम मुझसे काफी दूर थी और मुझे बुला रही थी। मेडम मुझे अब एक कमरे में ले गयी और मुझे एक पैकेट दिआ जिसमे काफी जूस और फल थे। वह टोकरी बहुत भरी थी इसलिए मेने मेडम से कहा की मै उसे बाद में ले जायूँगा। 

जाते जाते मेडम ने मुझे अपने पास बुलाया और गाल पर एक किस किआ और मुझे भी आई लव यु कहा। मै बहुत ही खुश हो गया पर मेने मेडम से कहा की वह मेरे प्यार को बचपना ना समझे क्युकी मै बच्चा नहीं हु। 

मेडम हसी और कहा की अच्छा जी तो मेरा प्यार कैसा है। मेने मेडम से कहा की वह चाहे तो मै उन्हें अपना प्यार दिखा सकता हु क्युकी यहाँ अभी कोई भी नहीं है। मेडम ने हां कहा और मुझे जो करना है करने को बोला। 

और भी ऐसे किस्से: Antarvasna Story

मेडम को किआ गरम और स्कूल में ही की चुदाई 

अब मेने मेडम का हाथ लिआ और मेडम से हाथ जोड़े वाला डांस शुरू किआ। मेडम भी चौक गयी थी मै यह सब क्या कर रहा हु पर मेडम अभी चुप थी।  मेने अब मेडम की आँखों में देखा जो मुझे ही देख रही थी। 

धीरे धीरे अब मै अपने होठ मेडम के पास ले गया और उन्हें चुम लिआ। मेडम भी मुझ में खो गयी थी और अब यह सब बहुत ही अच्छा हो गया। मेडम खुद ही मुझे जोर जोर से किस करने लगी और मेरे होठो को चूसने लगी। 

मेडम की हवस भी जाग गयी थी और मेडम को अब मै एक कोने में ले गया और मेडम के बूब्स भी दबाना शुरू हो गया। मेडम भी अच्छे से मेरे प्यार सा रस चूस रही थी और अब मेने मेडम का हाथ लिआ और अपने खड़े लंड पर रख दिआ। 

मेडम चौक गयी और कहा की यह तो बहुत बड़ा है। अब मेडम ने मेरा लंड हिलाते हुए मुझे चूमना चालू रखा और कुछ ही देर बाद मेडम निचे बेथ गयी और मेरे लंड को बाहर निकाल लिआ और मुह्ह में ले लिआ। 

अच्छे से चूसने के बाद मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था और वह बहुत गीला भी हो गया था। अब मेने मेडम को एक डेस्क पर बिठाया और मेडम के टांग खोल दी और साडी ऊपर करके पकड़ ली। 

एक ही बार में मेरा लंड मेडम की चुत में फिसल गया और मेने धक्के देते हुए मेडम की चुत मारना शुरू कर दी। मेडम भी मदहोशी में चुदाई का मजा लेते हुए मेरे बाल सेहला रही थी और मै निचे से अपना लंड मेडम की चुत में उतार रहा था। 

यह चुदाई काफी देर तक चली और मेडम की चुत भी रस छोड़ने लगी थी। अब मेडम ने मुझे रोका और मेरा लंड मुह्ह में लेके तेज तेज चूसना शुरू कर  दिआ और कुछ ही पल में मेरे लंड से पानी निकल आया जो मेडम पी गयी। 

अब स्कूल से सब चले गए थे और मेडम ने मुझे भी जाने को कहा और उस दिन के बाद मेने मेडम की चुत की चुदाई घर पर जाकर भी करि।  

Leave a Comment