गर्लफ्रेंड चुदी किसी और से – 3

अब वो पूजा के ऊपर आ गए और बाहर से ही अपना लंड उसकी जांघों पर चूत के आसपास रगड़ने लगे। पूजा को भी मजा आ रहा था। वो अंकल के हाथों को अपनी चूचियों पर रखवा कर भिंचवाने लगी। 

कुछ देर ऐसे ही मजा लेने के बाद अंकल ने पूजा की चूत पर थूक लगाया और लौड़ा अंदर सरका दिया। पूजा के मुंह से एक बार फिर लंड लेने वाली आह्ह … निकल गई। 

अंकल ने पूरा लंड मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में उतार दिया और लगे उसे फिर से पेलने! अबकी बार खाट भी चुदाई में चूं … चूं की आवाज करने लगी। वो पूजा के ऊपर लेट गए और उसकी चूचियों पर मुंह लगाकर पीने लगे। 

नीचे से पूजा की चूत में लंड अंदर बाहर हो रहा था। धीरे धीरे अंकल की स्पीड बढ़ने लगी। पूजा ने अंकल की पीठ पर दोनों हाथों को कस लिया और उनको बांहों में भर लिया। अंकल और तेजी से उसकी चूत मारने लगे। 

इधर मेरा माल भी निकलने के करीब आ पहुंचा था। मैंने तेजी से लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया। कुछ ही देर में पूजा की आहें हल्की चीखों में बदल गईं थी। अंकल के लम्बे मोटे लंड से चुदने में पूजा को भी पूरा मजा आ रहा था।

मरीज लड़की की चुदाई का मजा – 1

जोर के धक्को से अंकल चोद रहे थे पूजा को

फिर एकदम से चुदाई को बीच में रोक कर उन्होंने लंड बाहर निकाल लिया; पूजा को भी उठने के लिए कहा। वो उठी तो उन्होंने पूजा को खाट पर झुका लिया। अब पूजा की गांड अंकल के लंड के सीध में थी। 

एक दो बार पूजा की गांड को जोर से भींचकर उन्होंने उसको दो-तीन बार थपकाया और फिर उसको चूमने लगे। पूजा के गोरे चूतड़ों पर अंकल दांतों से काटने लगे। कभी वो उस पर होंठों से चूम रहे थे। 

फिर उसकी गांड के छेद को लौड़े से सहलाया। इसमें भी पूजा को पूरा मजा आ रहा था। अब अंकल ने उसकी चूत पर लंड का सुपारा टिकाया और फिर से लंड को चूत में अंदर सरका दिया।

पूजा ने खाट को अच्छी तरह से पकड़ लिया ताकि अंकल के धक्कों को बर्दाश्त कर सके। अंकल एक बार फिर से पूजा की फुद्दी में पीछे से लंड को पेलने लगे। अब पूजा घोड़ी बनी हुई अंकल से चुद रही थी। 

दोनों के मुंह से हल्की सिसकारियां निकल रही थीं। अंकल का जोश अब सातवें आसमान पर था। पूजा भी चुदाई में मस्त होकर जैसे गांड को अंकल के सामने फैलाती जा रही थी। इतने में ही मेरा तो माल वहीं पर निकल गया।

बाबा ने दिआ भाभी को बच्चा – 1

पूजा का निकल गया चुत से पानी

मगर अंकल और पूजा अभी भी चुदाई में लगे हुए थे। ये दोनों झड़ने का नाम नहीं ले रहे थे। मुझे शक हुआ कि अंकल शायद गोली खाकर पूजा को चोद रहे हैं। कुछ देर बाद पूजा का बदन ठंडा पड़ता दिखा। 

वो शायद झड़ चुकी थी लेकिन अंकल अभी भी लगे हुए थे। अंकल ने चूत से लंड को निकाला और पूजा के हाथ में दे दिया; उसको मुठ मारने के लिए कहा। वो अंकल के लंड की मुठ मारने लगी। 

थोड़ी देर बाद झटके देते हुए अंकल भी झड़ गए। खाली होने के बाद अब वो दोनों एक साथ लेट गए। अंकल अब भी पूजा को किस किए जा रहे थे। वो बोले- मैं तुम्हें बहुत दिनों से चोदना चाह रहा था लेकिन कह नहीं पा रहा था। 

पूजा- कोई बात नहीं अंकल, आपका जब मन करे, आप मुझे चोद लेना। मुझे भी आपका लंड बहुत अच्छा लगा। मैंने मन ही मन सोचा ‘साली, तुझे सब लड़कों के लंड अच्छे लगते हैं, चुदक्कड़!’ फिर मैं वहां से चला आया। 

मुझे पूजा के इस रूप से हैरानी नहीं थी क्योंकि उस Xxx गर्ल फक की आदत के बारे में मैं जानता था। आने के बाद मैंने लंड को साफ किया और फिर सो गया। तो दोस्तो, ये थी मेरी चुदक्कड़ गर्लफ्रेंड की कहानी। आपको स्टोरी कैसी लगी, जरूर बताना।  

Leave a Comment