गर्लफ्रेंड चुदी किसी और से – 1

मेरी पिछली कहानी थी: सहेली ने अपने बॉयफ्रेंड से मुझे चुदवा दिया अब इस Xxx गर्ल फक स्टोरी का मजा लें। मेरी एक गर्लफ्रेंड है जो 12वीं कक्षा में पढ़ रही है। मुझे मेरी गर्लफ्रेंड की एक आदत से बहुत परेशानी है। 

वह हर किसी लड़के पर लाइन मारती रहती है; अपनी मौसी के लड़के तक को उसने नहीं छोड़ा है। एक रात की बात है, उसका फोन मेरे पास आया। वो फोन पर कहने लगी कि सेक्स करने का बहुत मन कर रहा है। 

रात का वो वक्त ही ऐसा था कि उसकी बातें सुनकर मेरा भी लंड खड़ा हो गया। मेरा मन भी गर्लफ्रेंड की चुदाई के लिए करने लगा। मैं उठकर उसके घर के पास चला गया। फोन पर उसने बताया था कि उसके पापा के कोई दोस्त भी घर पर आए हुए हैं। 

जब मैंने उसके घर के पास जाकर फोन किया तो उसने मना कर दिया। मैंने पूछा तो कहने लगी कि अभी पापा जाग रहे हैं। फिर मैंने सोचा कि यहां तक आ गया हूं तो थोड़ा इंतजार ही कर लूं। मैं वहीं रुक गया। रात काफी हो गई थी। 

फिर मैंने सोचा, कम से कम देखूं तो सही कि उसके घर में क्या चल रहा है। उनके घर के पीछे एक सूखा पेड़ था जिस पर से चढ़ना काफी आसान था। मैं पहले भी एक दो बार उनके घर में इसी पेड़ से दाखिल हो चुका था। 

रांड बीवी और चुदाई की कीमत – 1

चुपके से बाते करते हुए पकड़ा

मैं पेड़ से चढ़ते हुए उनकी छत पर पहुंच गया। जीना खुला था और मैं सीढ़ियों से नीचे जाने लगा। मगर बीच रास्ते में ही मैं ठिठक गया। मैंने देखा कि वो सीढ़ियों में किसी आदमी की गोद में बैठी हुई मंद आवाज में कुछ बातें कर रही थी। 

मैं चुपचाप वहीं बैठकर उन दोनों की हरकतें देखने लगा। फिर उनकी बातें सुनी तो पता चला कि वो उसके अंकल थे। वो उसको पूजा बेटी कहकर बुला रहे थे। अंकल बोले- पूजा बेटी, जब भी तुम्हारे घर आता था तो तुम्हारी छातियों को देखकर मेरा लंड मचल जाता था। 

तुम्हारी चूत में जाने के ख्याल से ही मेरा लौड़ा तनकर लोहा हो जाता था। आज मैं वो जलती ख्वाहिश पूरी करूंगा। पूजा ने कैपरी पहनी थी और ऊपर टॉप डाला हुआ था। अंकल उसके टॉप के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबा रहे थे। 

वो भी अंकल के गले में बांहें डालकर लेटी थी। फिर उन दोनों के होंठ मिल गए। यह देखकर मुझे गुस्सा आने की बजाय उत्तेजना होने लगी। मेरा लंड भी उनकी हरकत को देखकर खड़ा होने लगा। 

उनके चुम्बनों की पुच-पुच की आवाज मुझे साफ सुनाई दे रही थी। यह आवाज मेरे लंड को और ज्यादा कठोर बना रही थी। धीरे-धीरे उनका जोश बढ़ता जा रहा था और वो दोनों पागलों की तरह एक दूसरे के होंठों को खाने लगे थे। 

होटल में बुझा दी बुआ की प्यास – 1

अंकल दबाने लगे उसके बूब्स 

कुछ देर बैठे रहने के बाद अंकल खड़े हो गए और गोद में उठाए हुए ही उसकी चूचियों में मुंह देने लगे। फिर उन्होंने पूजा को नीचे उतार दिया और अपनी पैंट खोलने लगे। पैंट खोलकर उन्होंने नीचे गिरा दी और अंडरवियर पहने रहे। 

फिर उन्होंने पूजा को भी कैफरी खोलने को कहा। पूजा ने कैफरी खोली और नीचे गिरा दी। अब वो नीचे से पैंटी में थी। अंकल ने उसके टॉप को उठा दिया। पूजा ने नीचे से ब्रा नहीं पहनी थी। और अंकल ने उसकी चूचियों में मुंह लगा दिया। 

अंकल अब मस्ती में होकर मेरी गर्लफ्रेंड के बूब्स को चूसने लगे। पूजा ने अंकल के अंडरवियर के ऊपर से ही उनके लंड को सहलाना शुरू कर दिया। यह नजारा देखकर मुझसे भी रुका न गया और मैंने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया और धीरे धीरे मुठ मारने लगा। 

अब अंकल ने पूजा की चूत को भी पैंटी के ऊपर से सहलाना शुरू कर दिया। पूजा ने अपने बदन को अंकल के हाथ के सहारे छोड़ दिया और चूत अंकल के हाथ पर रगड़ते हुए प्रतिक्रिया देने लगी। वे दोनों हवस में पागल हो चुके थे। 

Leave a Comment